खांसी रोकने के 10 कारगर उपाय!

खांसी आना किसी के लिए भी परेशानी का कारण हो सकता है, और अगर लगातार खांसी आ रही हो तो परेशानी कई गुना बढ़ जाती है। क्या आपने कभी सोंचा है कि खांसी क्या है और ये क्यों आती है, अगर नहीं तो हम आपको सरल भाषा में बताने जा रहे हैं कि खाखिर खांसी क्यों आती है, खासी आने के क्या कारण होते हैं और सबसे जरूरी कि खांसी आने पर कुछ घरेलू उपाय जिन्हें अपनाकर आप खांसी से कुछ हद तक राहत पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैंः

खांसी क्या है?
आसान भाशा में खांसी एक रिएक्षन है जो आपके वायुमार्ग की जलन या इरिटेषन को साफ करने में मदद करती है। वायुमार्ग की नसें एलर्जी, मेडिकल वजह, दवाओं या किसी अन्य परेशानी से उत्तेजित हो जाती हैं, जिसके परिणामस्वरूप फेफड़ों से हवा तेजी से बाहर आती है जिससे खांसी जैसी स्थिति पैदा होती है। खांसी आने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे

सामान्य सर्दी-जुकाम,
उपरी श्वसन पथ का संक्रमण,
फ्लू,
निमोनिया,
काली खांसी,
दमा,
गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीईआरडी),
साइनस संक्रमण,
पोस्ट नेजल ड्रिप,
फेफड़े का कैंसर आदि

सूखी खांसी: आमतौर निम्न कारणों से हो सकती है
ठंड और फ्लू वायरस,
एलर्जी,
एसिड रिफ्लेक्ट
सिगरेट के धुएं से आदि

  1. बलगम को ढीला करने के लिए ह्यूमिडिफायर का उपयोग करा जा सकता है।
  2. खारे पानी के गरारे आपको फायदा पहुंचा सकते हैं, यह प्रक्रिया गले से बलगम को साफ करने में मदद करती है।
  3. अगर आपको असुविधा न हो तो आप रात में अपने सिर को ऊंचा करने के लिए एक अतिरिक्त तकिया का उपयोग कर सकते हैं।
  4. धूम्रपान न करें इससे खांसी और भी ज्यादा बढ़ सकती है और साथ ही सेकेंड हैंड स्मोकिंग से बचें।
  5. हाइड्रेटेड रहें, पतले बलगम के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।
  6. इनहेल स्टीम, आप गर्म पानी से नहा सकते हैं, या पानी उबालें और एक कटोरे में डालें, कटोरे को मुंह के सामने रखें (कम से कम 1 फुट दूर रहें), अपने सिर को पीछे से एक तौलिया से ढक लें और धीरे-धीरे सांस लें। यदि आप असहज महसूस करते हैं तो तुरंत ही इस प्रक्रिया को रोक दें। इस बात का ध्यान रखें कि अगर आपको अस्थमा के कारण खांसी होती है, तो ऐसा न करें, या अपने डाॅक्टर से सलाह लेने के बाद ही करें क्योंकि भाप से लक्षण खराब हो सकते हैं।
  7. हल्दी के सेवन से फायदा, असल में हल्दी पाचन समस्याओं को कम करने में मदद कर सकती है और जीईआरडी के कारण खांसी होने पर मदद कर सकती है।
  8. धूल, तेज परफ्यूम, या प्रदूशित वायु में सांस लेने से बचें।
  9. शहद का प्रयोग कफ में बहुत उपयोगी साबित हो सकता है, खांसी या कफ होने पर आप षहद का सेवन जरूर करें, यह कफ को दबाने में मदद करता है। छोटे बच्चों को देने से पहले डाॅक्टर की सलाह लेना उपयोगी होगा।
  10. अदरक आपको खांसी और ष्वसन मार्ग में संक्रमण से राहत प्रदान कर सकती है, आप अदरक की चाय ले सकते हैं इससे गले की सूजन को दूर करने में भी मदद मिलती है।

यह भी पढ़ेंः