इस तरह पाएं अनचाहे बालों से छुटकारा!

अनचाहे बाल महिलाओं की एक आम समस्या है। महिलाएं अनचाहे बालों को हटाने का भरसक प्रयास करती हैं, लेकिन ये दोबारा आ जाते हैं। अब प्रश्न उठता है कि कैसे पाएं अनचाहे बालों से छुटकारा। अनचाहे बालों से छुटकारा पाने के लिए आपको ऐसे उपाय अपनाने चाहिए, जिससे आपकी त्वचा को भी कोई नुकसान न पहुंचे और आपकी खूबसूरती भी बरकरार रहे। अनचाहे बालों को हटाने का एक बहुत ही लाभकारी और सबसे ज्यादा इस्तेमाल में आने वाला तरीका है। शरीर के हर हिस्से, जहां पर भी अनचाहे बाल हों, वैक्सिंग के द्वारा उन्हें हटाया जा सकता है। वैक्सिंग से अनचाहे बाल पूरी तरह साफ हो जाते हैं और त्वचा मुलायम हो जाती है। चेहरे के बाल हटाने के लिए कटोरी वैक्सिंग की जाती है। वैक्सिंग के बाद बाल लंबे समय तक दोबारा नहीं आते, क्योंकि त्वचा के अंदर जड़ों से बालों को निकाला जाता है।

डॉ. निवेदिता दादू डर्मेटाॅलेजी क्लिीनिक की फाउंडर चेरमैन व डर्मेटाॅलेजिस्ट डाॅक्टर निवेदिता दादू सांझ संजोली मैगजीन से बात करते हुए कहती हैं कि यह मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है- कोल्ड वैक्सिंग और हॉट वैक्सिंग। कोल्ड वैक्सिंग में वैक्स को सीधा स्कीन पर लगा दिया जाता है और पेपर या कपड़े की पट्टी से खींचकर बाल निकाल दिए जाते है। हॉट वैक्सिंग में वैक्स को गर्म करके पिघलाया जाता है और इसके बाद इसे स्कीन पर लगाया जाता है और फिर पेपर या कपड़े की पट्टी से बालों को निकाल दिया जाता है। वैक्सिंग क्यूं, कैसे और कब करें? दोनों ही प्रकार की वैक्सिंग, त्वचा के लिए लाभकारी होती है। वैक्सिंग से सिर्फ अनचाहे बाल ही नहीं निकलते है बल्कि इसके कई और फायदे भी होते है। यह सस्ता और आसान होता है, इसमें समय भी कम लगता है। इसके अलावा, वैक्सिंग के कई अन्य फायदे निम्म प्रकार हैं-  (कैसे पाएं अनचाहे बालों से छुटकारा)

स्कीन टेक्सचर – वैक्सिंग करवाने के बाद त्वचा काफी मुलायम हो जाता है। वैक्सिंग करवाने से ड्राई और डेड स्कीन निकल जाती है और बाल भी हट जाते है जिससे छूने पर पंख जैसा स्पर्श महसूस होता है। किसी और प्रकार से बालों को हटाने पर ऐसा नहीं होता है। मार्केट में कुछ ऐसे वैक्स भी उपलब्ध होते है जो स्कीन को मॉश्चराइज करने के लिए बने होते है। अगर आपकी त्वचा ज्यादा रूखी है तो वैक्सिंग करवाएं।

जलन या खुजली नहीं – वैक्सिंग करवाने से त्वचा में किसी प्रकार की जलन या खुजली नहीं होती है। डाॅक्टर निवेदिता दादू कहती हैं कि हेयर रिमूविंग क्रीम आदि से कई लोगों को दाने पड़ जाते है। अगर आपकी त्वचा ज्यादा सेंसटिव है तो साधारण वैक्स का इस्तेमाल करें, इसमें कम मात्रा में कैमिकल होते है जिससे त्वचा सही रहती है। अगर वैक्सिंग के बाद आपको हल्के लाल दाने पड़ते हैं तो इसका मतलब है कि वैक्सिंग करने का तरीका सही नहीं था।, इसके लिए जरूरी है कि सही तरीके से वैक्स करें।

चोट या कटता नहीं है – वैक्सिंग करवाने से त्वचा में कहीं भी चोट नहीं लगती है और न ही कटता है, रेजर आदि से बाल हटाने पर त्वचा के कटने का ड़र रहता है और त्वचा भी खुरदुरी हो जाती है।

पूरी तरह से सफाई – वैक्सिंग करवाने से हाथ या पैरों के छोटे से छोटे बाल भी आसानी से निकल जाते है और पूरी स्कीन साफ निकल आती है लेकिन अगर आप क्रीम या रेजर से साफ करती है तो कहीं न कहीं बाल रह जाएंगे और चार छरू दिन में ही त्वचा बेहद रूखी हो जाएगी।

बाल कम आते है – अगर आप लगातार वैक्स करवाती रहें तो धीरे-धीरे बाल आना काफी कम हो जाता है। एक समय के बाद वैक्स करवाने के 4-6 सप्ताह तक हाथों पर कोई बाल नहीं उगता है।
कुछ अन्य तरीके भी है जिनकी मदद से अनचाहे बालों को हटाया जा सकता है।

ब्लीचिंग
आपके चेहरे और कनपटियों के आसपास हल्के-हल्के रोंए दिखाई देते हैं, तो इन्हें छिपाने के लिए ब्लीच का इस्तेमाल कर सकती हैं। लेकिन ब्लीच का इस्तेमाल करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि ब्लीच आपकी त्वचा पर रिएक्शन न करे। इसके लिए तैयार हुई ब्लीच को पहले हथेली पर लगाकर देखें। ये स्थायी इलाज नहीं है। इसे भी समय-समय पर करते रहना पड़ता है।

हेयर रिमूवर क्रीम
बाजार में कई ब्रांड्स की हेयर रिमूवर क्रीम उपलब्ध हैं। इनसे भी अनचाहे बालों से मुक्ति मिलती है। हेयर रिमूवर क्रीम से अनचाहे बाल हटाने में कोई दर्द नहीं होता और न ही ज्यादा वक्त लगता है। लेकिन इससे बाल जल्दी उग आते हैं। ध्यान रहे कि हेयर रिमूवर क्रीम का इस्तेमाल कभी अपने चेहरे पर न करें।

शेविंग
अनचाहे बालों को हटाने के लिए शेविंग सबसे सरल तरीका है। लेकिन शेविंग के जरिए अनचाहे बाल हटाते वक्त सफाई का पूरा ध्यान रखना चाहिए। चेहरे के अनचाहे बालों को हटाने के लिए रेजर का इस्तेमाल न करें।

इलैक्ट्रोलिसिस
इस विधि के जरिये अनचाहे बालों को पूरी तरह जड़ से निकाल दिया जाता है। इसमें एक बहुत बारीक बिजली वाली सुई को बालों के रोम में डाल देते हैं, जो बालों को जलाकर बाहर निकाल देती है। यह प्रक्रिया महंगी है और इसे विशेषज्ञ से ही करवाएं। जरा-सी गलती आपकी त्वचा खराब कर सकती है।

लेजर तकनीक
अनचाहे बालों को लेजर द्वारा स्थायी तौर पर हटाया जा सकता है। लेजर से बालों को हमेशा के लिए जड़ से खत्म किया जाता है। इसमें लगभग सात से आठ सिटिंग्स लगती हैं। लेजर की किरणों को बालों की जड़ पर केंद्रित किया जाता है, जिससे बाल नष्ट हो जाते हैं।

वैक्सिंग के बाद त्वचा की देखभाल
वैक्सिंग के पूरा होने के बाद नियमित रूप से उस क्षेत्र को नमी प्रदान करे। एंटीसेप्टिक गुण वली क्रीम को लगाना बेहतर होगा।
 एलोवेरा, चाय के पेड़ का तेल आदि प्राकृतिक मॉइस्चराइजिंग तत्व है इन प्राकृतिक तत्वो के उपयोग से आप किसी भी प्रकार की जलन से छुटकारा पा सकते है।
 कभी-कभी सूखापन और परतदार त्वचा की वजह से बाल बढ़ सकते हैं। हमेशा हल्के और प्रभावी नमी वाले पदर्थो से अपने अतरंग त्वचा को नमी दे।
 वैक्सिंग के बाद मृत त्वचा को हटाने के लिए एक सप्ताह में कम से कम दो से तीन बार अपनी त्वचा को स्क्रब से साफ करे। ऐसा करने से आपको मृत त्वचा से मुक्ति मिलेगी स्क्रब बहुत कठोर नही होना चाहिए वरना आपकी कोमल त्वचा को नुकसान हो सकता है
 स्क्रब के अंदर पर्याप्त दानेदार पदार्थ होना महत्वपूर्ण है इस प्रकार, वैक्सिंग के बाद एक सही स्क्रब को चुनना बहुत महत्वपूर्ण होता है।
 वैक्सिंग के बाद हाथों के नीचे के भाग को अच्छी तरह से साफ करे ताकि गंदगी जमा ना हो पाए और संवेदनशील त्वचा को नुकसान ना हो।
 वैक्सिंग के बाद हाथों के नीचे के हिस्से को सूखा रखना और साफ रखना बहुत महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ेंः