बारिश में चलाते हैं कार? तो जरूर ध्यान दें इस बात पर

बारिश का मौसम शुरू हो गया है। इन दिनों सड़कों पर पानी और कई बार गड्ढ़ों का भी सामना करना पड़ सकता है। अपनी कार को सही देखभाल देना आपकी जिम्मेदारी होती है। बरिशों में कार की सही देखभाल सबसे ज्यादा जरूरी होती है। आपकी कार की रखरखाव चेकलिस्ट बहुत आसान है और कुछ प्रयत्न करके आप इसे आसानी से कर सकते हैं। महत्वपूर्ण बात यह भी है कि आपको यह पता होना चाहिए कि कार का निरीक्षण कब करना चाहिए। जितना संभव हो, आपको स्वयं निरीक्षण करना चाहिए। कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो यह कठिन प्रक्रिया बिल्कुल नहीं है। निरीक्षण करना काफी आसान है, खासकर यदि आप जानते हैं कि आपको किन चीजों पर गौर करना है। निरीक्षण के लिए आप गाड़ी से साथ मिले मैनुअल को सही तरह से पढ़ें, मैनुअल में चित्रों के माध्यम से बहुत आसानी से गाड़ी के निरीक्षण की बाते बताई जाती है। निरीक्षण के बाद अगर आपको कोई चीज सही नहीं दिखती है, तो आप इस पर ध्यान दे सकते हैं और एक पेशेवर मकैनिक से उसकी मरम्मत करवा सकते हैं।

हार्न और वाइपर
बारिशों में कार की सबसे ज्यादा समस्या हार्न और वाइपर से संबंधित होती हैं, लेकिन अकसर हम इन दोनों महत्वपूर्ण पार्ट्स की चेकिंग करना भूल जाते हैं। आपकी कार के लिए अच्छा रहेगा कि आप मानसून के शुरूआत में ही इन दोनो की चेकिंग पहले से ही करवा लें। हार्न में बारिश का पानी जाने से, हार्न बजना बंद हो सकता है। जिससे आपको परेशानी हो सकती है, इसके साथ-साथ अगर तेज बारिश में आपका वाइपर या वाइपर की रबड़ सही कंडीशन में नहीं है तो आपको बहुत बड़ी परेशानी हो सकती है।

कोरोना वायरस और मानसून? पाएं अपने मन में उठ रहे प्रश्नों के उत्तर!

टायरों की जांच
बारिशों में पहियों का सही संतुलन कार रखरखाव का महत्वपूर्ण पहलू हैं, क्योंकि ये आपकी कार के सही संचालन में एक बड़ी भूमिका निभाता है। साथ ही बारिशों में सड़के गीली होती हैं इसलिए आपकी सुरक्षा के लिए भी संतुलन का सही होना बहुत आवश्यक होता है। इसीलिए अगर आपको कार चलाते समय बबलिंग महसूस हो तो तुरंत पहिए के संतुलन की जांच करवानी चाहिए। टायर में गलत एयर प्रेशर गाड़ी की हैंडलिंग को भी प्रभावित करता है, खासकर बारिशों के दिनों में। ऐसे कई गैजेट और उपकरण बाजार में आते हैं जिनके उपयोग से आप टायर के दबाव को जांच सकते हैं। आदर्श रूप से, यह साप्ताहिक आधार पर किया जाना चाहिए, हालांकि इसे अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने से आपको फायदा होगा। कुछ कारों में टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम लगा होता है। जिससे आप आसानी से इस पर नजर रख सकते हैं। जब आप नए टायर लगवाते हैं तो आपको जागरूक रहना चाहिए। आपको ऐसे टायर की आवश्यकता होती है जो सभी मौसम की स्थितियों में कार्य कर सके। अच्छी बात ये कि अच्छी कंपनी के टायर बाजार में आने से पहले सभी टेस्ट को पास करते हैं, इसीलिए आपको बस सही कंपनी के टायर का चुनाव करना है।

अन्य जरूरी जांच
लेटेस्ट कारों में अच्छी तकनीक के सेंसर और चेतावनी प्रणालियां होती हैं जो आपको सूचित करती हैं कि कार के किस क्षेत्र में समस्या है। यहां तक कि सावधानीपूर्वक निरीक्षण और रखरखाव के साथ कुछ बाते छूट सकती है लेकिन इन लेटेस्ट सेंसर और चेतावनी प्रणालियांे से कुछ भी नहीं छूटता। बस आपको विभिन्न चेतावनी या लाइट संकेतकों के अर्थ को जानने की जरूरत होती है जो आपके इंस्ट्रूमेंट पैनल पर फ्लैश करते हैं। इसके साथ-साथ आपको ब्रेक शू, ब्रेक आॅयल और इंजन आॅयट का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कई कारों में ऑयल वार्निंग लाइट होती है, जो आमतौर पर चमकती है अगर आपके इंजन में तेल का दबाव बहुत कम है। कभी भी इस चेतावनी के प्रकाश के साथ अपने वाहन को चलाने का प्रयास न करें क्योंकि यह आपके इंजन को नुकसान पहुंचा सकता है। यह चेतावनी प्रकाश कम तेल के स्तर, तेल पंप में खराबी या तेल फिल्टर में रुकावट से दिखाई दे सकता है।

मानसून का समय शुरू होने से पहले आपको कार की संपूर्ण जांच करवाना बेहद जरूरी होता है, इसके लिए आप सर्विस सेंटर का रूख कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *