व्हाइटहेड्स का कारण और इनको हटाने के उपाय

व्हाइटहेड्स का कारण

व्हाइटहेड्स whiteheads तब होते हैं जब त्वचा के छिद्र तेल, मृत त्वचा और गंदगी से भर जाते हैं। जिससे मृत कोशिकाओं और गंदगी को रोम छिद्र की नोक पर इकट्ठा होना आसान होता है। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि कई अन्य कारक भी इसके लिए जिम्मेदार होते हैं, जिनमें हार्माेनल परिवर्तन भी शामिल हैं। युवाअवस्था में एंड्रोजन हार्माेन का स्तर बढ़ जाता है, जो तेल उत्पादन को बढ़ाता है।

कई कारक हैं जो व्हाइटहेड्स whiteheads के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। जैसे किः
  1. किशोरावस्था या युवावस्था में
  2. कुछ शोधों के अनुसार, उच्च कार्बाेहाइड्रेट या उच्च ग्लाइसेमिक आहार खाने से, जो मुंहासों का खतरा पैदा करते हैं
  3. अनुवांशिक, ऐसे माता-पिता जिन्हें व्हाइटहेड्स सहित मुँहासे की समस्या थी, से बच्चों को इसका खतरा होता है
  4. कुछ दवाओं के साइडइफेक्ट्स से भी व्हाइटहेड्स हो सकते हैं
  5. ऑयली त्वचा प्रोडक्ट्स, क्लीन्ज़र, सौंदर्य प्रसाधन या क्रीम का उपयोग जो आपके रोमछिद्रों को बंद कर सकते हैं भी कुछ लोगों में समस्या का कारण बन सकता है
  6. तंग कपड़े या उपकरण पहनना, जिससे नमी या पसीने के दौरान त्वचा पर घर्षण या दबाव से व्हाइटडेड्स की समस्या हो सकती है
  7. अधिक तनाव और धूम्रपान से भी इसका खतरा हो सकता है
व्हाइटहेड्स को कैसे रोकते हैं?

व्हाइटहेड्स के ट्रिगर होने से कुछ हद तक रोका जा सकता है। कुछ सावधानियां इस
समस्या को कम करने में सक्षम हो सकती हैं। जैसे किः

व्हाइटहेड्स को पॉप नहीं करना चाहिए। इससे अधिक जलन हो सकती है, इससे आपकी त्वचा पर निशान पड़ने का खतरा बढ़ जाता है।

इनसे पीड़ित होने पर अपने चेहरे को बार-बार छूना नहीं चाहिए

धूम्रपान को जितनी जल्दी हो सके छोड़ दें

अपने बालों को नियमित रूप से शैम्पू जरूर करें

अल्कोहल-आधारित क्लीन्ज़र या उत्पादों से बचना चाहिए, ये त्वचा में जलन पैदा कर सकते हैं और मुंहासे को बदतर बना सकते हैं

दिन में दो बार अपना चेहरे को अच्छे से जरूर साफ करें और मुंह को गर्म पानी के बजाय गुनगुने पानी से धुलें। धोते समय अपने चेहरे को रगड़ें नहीं

इसका ध्यान रखें कि हमेशा संतुलित भोजन करें। हो सके तो एक डायरी रखने का प्रयास करें। जिसमें आप खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों का रिकॉर्ड रखने का प्रयास करें।

गाय का दूध, और दूध आधारित डेयरी उत्पाद, जैसे कि दही इस समस्या को कम करने में मददगार हो सकते हैं।

उच्च ग्लाइसेमिक खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ, जैसे कि सफेद ब्रेड, सफेद चावल, आलू, फ्राइज़, चिप्स, मिठाई, और मीठा पेय से बचना बेहतर रहता है।

ताजी सब्जियां, ताजे फल, साबुत अनाज और बीन्स व फलियां आपकी त्वचा को स्वस्थ्य रखने में मददगार साबित हो सकते हैं।

व्हाइटहेड्स हटाने के उपाय करने से पहले ध्यान दें

ये समस्या कई बार अपने आप कुछ दिनों में दूर हो जाती है। परेशानी ज्यादा होने पर देर करना गलत हो सकता है। सबसे अच्छा ये रहता है कि आप मुंहासों से बचने के लिए जब आप पहली बार मुंहासों की समस्या देखते हैं, तो उसे नजरअंदाज न करें। एक अनुभवी त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श करने के बाद बिना देर किए इलाज करवाएं। इसके हसाथ ही चिंता और अवसाद से भी जितना हो सकते बचने का प्रयास करें। चिंता आपकी त्वचा संबंधी समस्याओं को बढ़ा सकती है।

सांझ संजोली पत्रिका से जुड़ने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः