कोरोना वायरस पर क्या है देशवासियों की राय

कोरोना वायरस (Corona Virus) वैश्विक समस्या बना हुआ है। ऐसे में देश में फैली जागरूकता ही इससे हमारे देश का सुरक्षित रख सकती है। कोरोना वायरस के खिलाफ जागरूकता फैलाने में सरकार और मीडिया के साक्षा प्रयास रंग ला रहे हैं। लोगों में जागरूकता और सावधानियां ही कोरोना वायरस को फैलने से रोक सकती है। लोगों से इस वायरस के संबंध में सांझ संजोली टीम बात की, आइए जानते हैं लोगों की रायः

कनिका खुराना
Kanika Khurana, Delhi

दिल्ली में इवेंट मेनेजमेंट करने वाली कनिका खुराना ने बताया मैं कोरोना वायरस से डर नहीं रही हूं। मैं सुबह अपने घर से निकलते समय अपनी पर्स में सेनेटाइज़र जरूर रखती हूं, पानी आस-पास न होने पर इसका प्रयोग करती हूं। साथ भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाने पर मास्क जरूर लागाती हूं, ऐसे करके मैं अपना जागरूक शहरी होने का फर्ज निभा रही हूं। हमारे प्रधानमंत्री जी ने भी कहा है इससे घबराने की जरूरत नहीं है, इसलिए मैं बिना घबराएं सावधानियां बरतते हुए अपने रोजमर्रा के काम कर रही हूं।

विजेंद्र मोहन
Vijendra Mohan, Ghaziabad

गाजियाबाद में रहने वाले विजेंद्र मोहन नें बताया कि मुझे कभी-कभी ऑफिस जाने के मेट्रो या पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्रयोग करना पड़ता है, पहले तो मेरे घर वाले बहुत चिंता कर रहे थे लेकिन मैने उन्हें कोरोना वायरस के बारे में सही जानकारी दी, अब मेरे साथ-साथ वे भी पूरी सावधानियां बरतते हैं, हाथों को बार-बार साबुन से अच्छी तरह से धोते हैं, मास्क का प्रयोग करते हैं और व्यर्थ की चिंताओं में नहीं पड़ रहे हैं। मेरे दोस्तों में भी इस वायरस को लेकर सही जारकारी व जागरूकता है। इस जागरूकता को फैलाने में मीडिया की भी बहुत बड़ी भूमिका है।

साकेत पांडे
Saket Pandey, Lucknow

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साकेत पांडे ने बताया कि मैं हर दिन कई लोगों से मिलता हूं। मै सभी को नमस्ते करके अभिवादन करने को प्रोत्साहित करता हूं, जिससे वे कोरोना वायरस या किसी भी वायरल इंफेक्शन से बच सकते हैं। आज विश्व भी भारत की नमस्ते के साथ अभिवादन करने की वर्षों से चली आ रही परंपरा को अपना रहा है। इसके अलावा मैं अपने हाथ समय-समय पर जरूर धुलता हूं। ऑफिस में भी सभी कोरोना वायरस को लेकर बहुत जागरूक हैं। इसका फायदा ये होता है कि अगर कोई व्यक्ति किसी बात, जैसे कि हांथ धुलना या भीड़-भाड़ वाली जगह पर मास्क पहनाना भूलता है तो दूसरा व्यक्ति उसे याद दिला देता है।

ललित शर्मा
Lalit Sharma, Haldwani

उत्तराखंड के हल्द्वानी में रहने वाले ललित शर्मा ने सांझ संजाली पत्रिका को बताया कि संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा तरीका इस वायरस के संपर्क में आने से बचना है। सरकार की कोशिशों को मैं पूरे नंबर दूंगा। उन्हीं की वजह से लोगों में बहुत जागरूता है। लोग सभी जरूरी एहतियात बरत रहे हैं। हालांकि मेरी जानकारी के अनुसार कोई भी कोरोना वायरस से संबंधित मामला हमारे क्षेत्र से नहीं आया है, फिरभी मैं और मेरा पूरा परिवार सरकार द्वारा सुझाई गई जरूरी सावधानियां बरत रहे हैं। मेरे सभी दोस्त इस इस वायरस से जुड़ी जरूरी सावधानियों से अवगत हैं। इससे बचने का सबसे आसान तरीका सही जानकारी ही है। सही जानकारी ही हमें इससे सुरक्षित रख सकती है।

अभिषेक तिवारी
Abhishek Tiwari, Lucknow

लखलऊ में पढ़ाई कर रहे अभिषेक तिवारी ने सांझ संजोली को बताया कि मैं इस बात का पूरा ध्यान रखता हूं कि यदि कोई व्यक्ति खांस या छींक रहा है, तो उस स्थान से दूर हो जाऊं। इसके साथ-साथ मैं भी खांसी आने या छींकने पर मुंह ढकना नहीं भूलता। मैं अपने घर पर रसोई व बाथरूम की फर्श, टेलीफोन, दरवाजों के हैंडल को पोंछने के लिए कीटाणुनाशक का प्रयोग जरूर करता हूं। क्योकि घर की इन जगहों का इस्तेमाल बार-बार होता है। साथ ही मेरी मां भी हमेशा किचन को साफ व कीटाणुरहित रखने की कोशिश करती रहती हैं। मेरे आस-पड़ोस में रहने वाले लोग भी कोरोना वायरस के खिलाफ सावधानियों को लेकर बहुत जागरूक हैं।

फेसबुक पेज को फॉलो करें

यह भी पढ़ेंः