कोरोना वायरस से घबराएं नहीं पढ़ें विशेषज्ञों द्वारा सुझाए उपयों को

केरोना वायरस से संबंधित मामले देश में बढ़ने से रोकने के लिए सरकार कई कारगर कदम उठा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकार ने कुछ समय के लिए वीजा सर्विसेज़ को भी नीलंबित कर दिया है। विदेशों से आने वाले भारतीयों की भी आवश्यक जांच की जा रही हैं। जागरूक रह कर हम इस समस्या से बड़ी आसानी से बच सकते हैं। सांझ संजोली पत्रिका ने कुछ चिकित्सकों से इस बारे में बात की सभी से प्राप्त हुई जानकारी से हम एक बात तो कह सकते हैं कि कोरोना वायरस से डरने की जरूरत नहीं हैं, बस आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखने की जरूरत है आइए जानते हैं कि क्या कह रहे हैं विशेषज्ञः

मदर्स लैप आईवीएफ सेंटर की मेडिकल डायरेक्टर डाॅक्टर शोभा गुप्ता ने बताया कि चीन के वुहान प्रांत से उपजी कोरोना वायरस की समस्या अब विश्व के कई देशों के साथ-साथ भारत में भी देखने को मिल रही है। इससे बचने का सबसे आसान तरीका सही जानकारी ही है। सही जानकारी आपको इससे सुरक्षित रख सकती है, जैसे कि यह बात सभी जानते हैं कि तनाव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, और यह आपको वायरल संक्रमणों के लिए अतिसंवेदनशील भी बना सकता है। शोधों से पता चलता है कि क्रोनिक तनाव किसी व्यक्ति को रोगी व्यक्ति के संपर्क में आने पर संक्रमण विकसित करने की संभावना को बढ़ाता है। इसलिए इससे बचें।

अपने मन को शांत करने के लिए योग व अन्य तरीको जैसे संगीत आदि का उपयोग करें। अपनी परेशानियों को दूसरों के साथ साझा करने की कोशिश करें। अगर आप चाहें तो किसी दोस्त या काउंसलर से बात करके अपने काम पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं और अपने तनाव को कम करने में मदद कर सकते हैं।

नींद आपके शरीर को स्वस्थ होने में मदद करती है, नींद बहुत जरूरी होती है इसीलिए 8 से 9 घंटे की नींद जरूर लें क्योंकि स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए नींद महत्वपूर्ण होती है। ऐसा कैसे होता है यह अभी भी पूरी तरह से समझा नहीं जा सका है। लेकिन यह क्रिया निश्चित ही तनाव को कम कर आपको आंतरिक मजबूती प्रदान करती है। इसीलिए सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त नींद लें। यदि आप बीमार महसूस कर रहे हैं, तो विशेषज्ञ की सलाह पर आपको अपने शरीर की आवश्यकता के अनुसार खुद को अधिक सोने देना चाहिए। डाॅक्टर शोभा ने बताया कि अपने चेहरे, खासकर अपनी आंखों, नाक और मुंह को बार-बार छूने से बचें।

कोरोना वायरसः जान लें ये जरूरी बातें, दूसरों को भी करें जागरूक

शांता फर्टिलिटी सेंटर की गायनाकोलेजिस्ट व आईवीएफ विशेषज्ञ डाॅक्टर अनुभा सिंह ने बताया कि इस वायरस से बचने के लिए सही जानकारी का होना बहुत जरूरी है। संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा तरीका इस वायरस के संपर्क में आने से बचना है। जो लोग बीमार हैं उनसे निकट संपर्क से बचें। यदि किसी को संक्रमण हो तो उससे गले लगने व हाथ मिलाने से बचना चाहिए। यदि कोई व्यक्ति खांस रहा है और छींक रहा है, तो उस स्थान से दूर जाएं। इसके साथ-साथ खांसी आने या छींकने पर मुंह ढकना न भूलें। बीमार होने पर जल्द से जल्द विशेषज्ञों को सूचित करें व भीड़ वाले इलाकों मेें जाने से बचें।

इसके साथ-साथ रसोई व बाथरूम की फर्श, टेलीफोन, दरवाजों के हैंडल को पोंछने के लिए कीटाणुनाशक का प्रयोग करें। क्योकि घर की इन जगहों का प्रयोग बार-बार होता है। साथ ही बाथरूम और रसोई को विशेष रूप से साफ व कीटाणुरहित रखने की कोशिश करें। अगर आप बीमार महसूस कर रहे हैं तो यात्रा करने से बचें और अगर यात्रा करना जरूरी हो तो मुंह पर मास्क जरूर पहनें।

कोरोनो वायरस बारे में
चीन के साथ-साथ विश्व के कई देशों में कोरोना वायरस फैला हुआ है। वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के शोधकर्ताओं ने पाया कि कोरोना वायरस 2019-दब्व्ट दक्षिणी चीन में खोजे गए बैट वायरस से 96 प्रतिशत मिलता-जुलता है (अपुष्ट)। कोरोना वायरस फेफड़ों को सीधे रूप में प्रभावित करता है और सांस लेने में कठिनाई उत्पंन करता है। अभी तक इस वायरस से बचाव ही इससे लड़ने का सबसे आसान तरीका है। उपर बताई गई बातों का ध्यान रखने के साथ-साथ आप विदेश की यात्रा करने से पहले विदेश मंत्रालय की एडवाइजरी को जरूर जान लें, व सलाह के अनुसार ही अपनी यात्रा को जारी रखें।

किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या होने पर जल्द से जल्द विशेषज्ञों की सलाह लें, यहां पर प्रस्तुत लेख का उद्देश्य जानकारी देना मात्र है।

यह भी पढ़ेंः