आपके लिए बहुत ज्यादा नमक क्यों खराब है – Excessive salt intake is dangerous for health

namak khane ke fayde aur nuksan, kala namak khane ke fayde, namak ke fayde, namak ke nuksan, sendha namak khane ke fayde, safed namak khane ke fayde, sendha namak ke nuksan, namak ke gun,

हम में से कई लोगों को नमक बहुत अच्छा लगता है। कई लोग तो सामान्य से कहीं ज्यादा नमक का सेवन करते हैं। कई बार आपने परिवार के कुछ सदस्यों को ये कहते सुना होगा कि आज खाने में नमक कम है, जबकि अन्य सदस्यों को खाने में नमक की मात्रा ठीक लग रही होती है। नमक हमारे शरीर के लिए जरूरी होता है, नमक हमारे शरीर में पोटेशियम जैसे अन्य इलेक्ट्रोलाइट्स के साथ मांसपेशियों के संकुचन, तंत्रिका प्रसारण और शरीर के तरल पदार्थ को नियंत्रित करने के लिए जरूरी होता है। लेकिन शरीर में जरूरत से ज्यादा नमक कई तरह की परेशानियां भी पैदा करता है। जब हम बहुत अधिक नमक का सेवन करते हैं, तो इससे हमारे मस्तिष्क, गुर्दे, धमनियों के साथ-साथ हृदय का स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है। ज्यादा नमक खाने से शरीर में होने वाली समस्याओं पर नजर डालते हैंः

ज्यादा सोडियम के सेवन से हृदय रोग होने का खतरा बढ़ जाता है। हाल ही में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, ज्यादा नमक का सेवन स्ट्रोक और हृदय रोग जैसी समस्याओं को बढ़ाने का काम करता है। इसीलिए नमक की मात्रा पर विशेष नजर रखना जरूरी होता है।

लंबे समय तक ज्यादा नमक खाने से आपकी स्वाद ग्रंथियों को अधिक नमक की आदत हो जाती है, जिसकी वजह से कई बार आप ये समय नहीं पाते हैं कि ज्यादा नमक खा रहे हैं। अधिक नमक खाने से कई प्रकार की समस्याएं हो जाती हैं।

गंभीर परिस्थितियों में अधिक नमक का प्रयोग पेट के कैंसर तक को बढ़ावा दे सकता है। शोध में ये भी बात सामने आई है कि इस प्रकार के कैंसर का खतरा पुरूषों में महिलाओं की तुलना में अधिक होता है।

आपके गुर्दे अपशिष्ट उत्पादों को निकालने, द्रव के स्तर को संतुलित करने और आपके शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। ज्यादा नमक का सेवन और उच्च रक्तचाप आपके गुर्दे को घातक हो सकते हैं।

कई बार आपने देखा होगा कि आप ब्लाॅटिंग की शिकायत महसूस कर रहे हैं। अधिकतर लोग बाहर खाने से पेट फूला हुआ महसूस करते है, यह अधिक नमक की वजह से हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *