गणेश चतुर्थी में मोदक बनाने की सबसे आसान रेसिपी

गणेश चतुर्थी में मोदक सबसे जरूरी मिठाईयों में से एक होती है। मोदक मुख्य रूप से महाराष्ट्रीयन मिठाई है जिसे गणेश चतुर्थी के त्योहार को मनाने के लिए बनाया जाता है। लोककथाओं के अनुसार, मोदक को भगवान गणेश की पसंदीदा मिठाई माना जाता है। गणेश चतुर्थी को मनाने के लिए बहुत सारे पारंपरिक व्यंजन तैयार किए जाते हैं। सभी व्यंजनों में मोदक इस पुण्य अवसर पर बनने वाली आवश्यक मिठाइयों में से एक है। भगवान गणेश को अर्पित करने के लिए मोदक के अलावा, नारियल के लड्डू, खीर, साबूदाना खिचड़ी, पूरन पोली और कई अन्य मिठाई तैयार की जाती हैं। चलिए जानते हैं गणेश चतुर्थी में मोदक बनाने की सबसे आसान रेसिपी

यह एक स्वादिष्ट इंस्टेंट मोदक रेसिपी है जिसमें केवल 6 सामग्री की आवश्यकता होती है। इस मोदक में केसर मोदक को एक सुंदर सुनहरा रंग देगा। और हरी इलायची की मीठी सुगंध और स्वाद को और भी ज्यादा बढ़ा देगी।

इस मावा मोदक को बनाने के लिए किसी तरह की स्टीमिंग या स्टफिंग की जरूरत नहीं है। चलिए जानते हैं जरूरी सामग्रियों के बारे मेंः

आवश्यक सामग्री

खोया
चीनी – पिसी हुई सफेद चीनी का प्रयोग करें या दानेदार सफेद चीनी को ब्लेंडर में पीस लें।
सूजी (रवा)
घी
केसर
हरी इलायची पाउडर

गणेश चतुर्थी में मोदक की सबसे आसान रेसिपी

सबसे पहले सूजी और खोया तल लें। तलते समय पैन को खुला न छोड़ें क्योंकि मिश्रण जल्दी जल जाता है। तलने के लिए आपको इसे लगातार चलाते रहना है। मोदक को मीठा करने के लिए आप सफेद चीनी की जगह गुड़ का पाउडर भी का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि चीनी पाउडर का उपयोग करें, दानेदार चीनी नहीं।

गर्म खोये के मिश्रण में चीनी न डालें। चीनी डालने से पहले मिश्रण हल्का गुनगुना होना चाहिए। नहीं तो, चीनी पिघलने लगेगी, जिससे आटा बहुत चिपचिपा हो जाएगा और उसे ढालना मुश्किल हो जाएगा। उन्हें धीमी आंच पर पकाएं, और लगातार चलाते हुए जब तक ये नरम, नॉन-स्टिकी आटे की तरह न हो जाए। आटे को केसर, इलायची और चीनी के साथ स्वाद दें।

अगर आपके पास मोदक का सांचा नहीं है, तो अपनी उँगलियों से पोटली की तरह बनाएं। आप टूथपिक का उपयोग करके ऊपर से नीचे तक समान दूरी पर घुमावदार रेखाएं बना लें। लीजिए तैयार हैं आपके स्वाद से भरे मोदक। मोदक कमरे के तापमान पर 1-2 घंटे तक ताजा और मुलायम रहता है।