कम उम्र में बाल सफेद होने के कारण और उपाय जानने के लिए पढ़ें ये जानकारी

कम उम्र में बाल सफेद होने से कई युवा परेशान रहते हैं। एक उम्र में बाल का सफेद होना सामान्य प्रक्रिया है। लेकिन यही अगर कम उम्र में होने लगे तो समस्या बन जाता है। बढ़ती उम्र के साथ, बालों के स्ट्रैंड में पिगमेंट की मात्रा कम हो जाती है। जिसकी वजह से बाल सफ़ेद होने लगते हैं। कम उम्र में बालों का सफेद होना कई कारणों से हो सकता है। खराब जीवनशैली कई बार इसका कारण होती है। कुछ दवाओं का साइडइफेक्ट बालों में असमय सफेदी का कारण हो सकता है।

जरूरी विटामिन की कमी व खराब देखरेख भी बालों के सफेद होने का कारण हो सकते हैं। अनुवांशिक कारण भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। तो क्या आप कम उम्र में बालों को सफेद होनें से रोक सकते हैं। जवाब है हां, अधिकतर मामलों में सही देखरेख से इस समस्या को हल किया जा सकता है। आइए जानते हैं कुछ घरेलू उपायः

कम उम्र में बाल सफेद होनें से पहले अपनाएं ये उपाय:

बादाम

कम उम्र में बालों को सफेद होने से रोकने के लिए बादाम अच्छा विकल्प है। बादाम का नियमित सेवन आपके लिए जरूरी है। इसके साथ-साथ बादाम का पेस्ट लगाने से बालों को जरूरी पोषण मिलता है। जिससे बालों को असमय सफेद होने से रोका जा सकता है।

चायपत्ती का प्रयोग

ब्लैक टी को जब नियमित रूप से बालों में लगाना फायदेमंद हो सकता है। यह प्रक्रिया बालों को प्राकृतिक रूप से काला बनाती है। इसका लेप बना कर बालों में लगाने से बाल घने भी होते हैं। कम उम्र में बाल सफेद होने से बचने में ये उपाय कारगर हो सकता है।

पोषक तत्वों से युक्त भोजन

बालों की सेहत के लिए जरूरी है कि आप पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करें। अपने आहार में वायोटिन नामक विटामिन शामिल करें। इसके साथ ही पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी12 का सेवन करें। आपका भोजन सफेद बालों की समस्या को कम करता है। कुछ खाद्य पदार्थ हैं जिनका सेवन आपके बालों के पोषण के लिए जरूरी है। जैसे कि जामुन, गाजर, पालक, अंडे, बीन्स, अखरोट आदि। ये आपके बालों के लिए जरूरी विटामिन प्रदान करते हैं।

प्याज का रस

प्याज का रस सफेद बालों की समस्या को सुलझा सकता है। प्याज के रस में विटामिन सी, मैग्नीशियम, फास्फोरस, सल्फर, विटामिन बी, बायोटिन जैसे विटामिम होते हैं। ये सभी विटामिन बालों को काला रखने में सहायता कर सकते हैं।

नारियल तेल

नारियल तेल बालों को पोषण देने के लिए सबसे अच्छा होता है। नारियल तेल में नींबू का रस सफेद बालों को बनने से रोकने में मदद करता है। यह तरीका आपकी स्कैल्प को स्वस्थ बनाता है।

धूम्रपान और बालों की सेहत

अच्छे और घनें बालों के लिए रखना है तो धूम्रपान से दूरी रखनी जरूरी होती है। धूम्रपान शरीर पर बहुत बुरा प्रभाव डालता है। शोध अध्ययनों से पता चलता है कि धूम्रपान करने वालों में धूम्रपान न करने वालों की तुलना में सफेद बाल होने की संभावना ज्यादा होती है।

हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करें। आप सांझ संजोली पत्रिका से इस्टाग्राम पर जुड़ सकते हैं। आपको बेहतर और सटीक जानकारी प्रदान करना ही हमारा लक्ष्य है।