बदला मौसम, ये टिप्स अपनाएं और बचें बीमारियों के प्रकोप से!

मौसम करवट ले रहा है ऐसे में अपनी सेहत का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि बदलते मौसम में आपके बीमार पड़ने की संभावना ज्यादा होती है। ऐसा कई कारणों से होता है। इस समय हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बदलते मौसम में सेहत का सही तरह से ख्याल कैसे रखें, बदलते मौसम में सेहत से जुड़ी किन बातों को जीवनशैली का हिस्सा बनाएं और बदलते मौसम में किन-किन बीमारियों से बचना जरूरी होता है। इन सभी बातों का ख्याल रखने के लिए आपका कुछ बातों को लेकर जागरूक होना जरूरी है, आज हम आपको उन्हीं बातों के बारे में बताने जा रहे हैं।

शरीर में पानी की कमी न होने दें
कई बार हम सिर्फ अधिक प्यास लगने पर ही पानी पीते हैं, ऐसा करना आपके लिए गलत साबित हो सकता है। क्योंकि पानी की कमी से कई प्रकार की सेहते से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। यहां तक कि अगर आप बाहर भी जा रहे हैं तो आप जहां भी जाएं अपने साथ पानी की बोतल ले कर जाएं। आपके शरीर की कार्यक्षमता का स्तर बहुत हद तक आपके पानी के सेवन पर निर्भर करता है। इसके साथ ही नारियल पानी का भी सेवन कर सकते हैं। नारियल पानी विशेष रूप से आपकी इम्यूनिटि को बेहतर करने में मददगार हो सकता है।

हाथ धोना न भूलें
बदलते मौसम में खास कर जब वातावरण में कई कीटाणु सक्रिय होते है जब भी संभव हो पानी से हाथ धोना याद रखें। यह महत्वपूर्ण है कि आपके हाथों पर बसने वाले कीटाणुओं को आपके मुंह या नाक से होकर शरीर में प्रवेश करने से पहले ही मिटा दिया जाए या धो दिया जाए। अगर आप बाहर हैं और अपने हाथ नहीं धो सकते हैं, तो अपने साथ हैंड सैनिटाइजर जरूर रखें, हैंड सैनिटाइजर से हांथ को साफ करने के बाद ही कुछ खायें।

स्वास्थ्य आहार
कोशिश करें कि अपने भोजन के माध्यम से शरीर के लिए आवश्यक विटामिन का सेवन बढ़ाएं। बदलते मौसम में अतिरिक्त फल, सब्जियां, नट्स और पोषक तत्वों को शामिल करने से आपको कई महत्वपूर्ण विटामिन के साथ विटामिन सी की अतिरिक्त मात्रा मिल पाएगी। विटामिन सी के लिए आप अपने आहार मंे संतरे, पपीता, नींबू, अनानास और ब्रोकोली आदि को शामिल कर सकते हैं। पत्तेदार सब्जियां भी स्वास्थ्य वर्धक होती हैं, जबकि अदरक और लहसुन का भी प्रयोग कर सकते हैं जिससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी हो सके।

व्यायाम को बनाएं दैनिक जीवनशैली का हिस्सा
अगर आपको अपने शरीर को रोगों से लड़ने के लिए मजबूत बनाना है तो व्यायाम से अच्छा कोई तरीका नहीं हो सकता। कोई अन्य प्राकृतिक तरीका नहीं है जो आपको व्यायाम की तरह स्वस्थ और मजबूत रखता हो। प्रतिदिन व्यायाम के लिए आप जिम जा सकते हैं, योग, तैराकी, साइकिल चलाना या अपने आस-पड़ोस के पार्क मंे पैदल चल सकते हैं। इस तरह से आप शरीर के कई विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पा सकते हैं जो पसीने के रूप में आपके शरीर से बाहर आ जाएंगे।

सकारात्मक सोंच
कई अध्ययनों में यह साबित हुआ है कि सकारात्मक सोंच आपको अच्छा अनुभव कराने में मददगार साबित हो सकती है। हंसते मुस्कुराते रहने से निश्चित रूप से मानसिक थकान को दूर रखने में मदद मिलती है, तनाव से बाहर निकलें जितना संभव हो हंसने की कोशिश करें। तनाव कई बीमारियों को आमंत्रण देता है, अधिक तनाव से बचें, तनाव को कम करने के लिए मेडिटेशन का सहारा लें। अच्छा संगीत सुनना भी आपके तनाव को कम करने में सहायक साबित हो सकता है। यकीन मानिये ऐसा करके आप कई गंभीर बीमारियों से आसानी से बच सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः