प्रेग्नेंसी में हाईब्लड प्रेशर पहुंचा सकता है बच्चे को बहुत नुकसान! pregnancy with high blood pressure

प्रेग्नेंसी में हाईब्लड प्रेशर बहुत आम है। एक अनुमान के मुताबिक 21 से 44 की उम्र के बीच हर 12 महिलाओं में से 1 प्रेग्नेंसी में हाईब्लड प्रेशर का सामना करना पड़ता है। गर्भवस्था में हाई ब्लड प्रेशर होने पर आपके गुर्दे और हृदय जैसे अंगों पर जोर पड़ सकता है। हाई ब्लड प्रेशर शरीर में हृदय रोग के खतरे को भी बढ़ाता है। गंभीर परिस्थितियों में हाई ब्लड प्रेशर से प्री-मेच्योर बेबी होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके साथ-साथ प्रेग्नेसी के दौरान हाई ब्लड प्रेशर से बच्चे के विकास में भी परेशानी आ सकती है।

गर्भावस्था के दौरान हाई ब्लड प्रेशर कई अन्य समस्याओं को जन्म दे सकता है जैसे किः भ्रूण की वृद्धि और विकास में बाधा, नाल का गर्भाशय की दीवार से अलग हो जाना, और साथ ही सिजेरियन (जिसे सी-सेक्शन भी कहा जाता है) का चान्स बहुत अधिक बढ़ जाता है।

गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप का क्या कारण होता है?

प्रेग्नेंसी के दौरान हाई ब्लड प्रेशर के कई कारण हो सकते हैं, यदि आपको निम्न समस्याएं है तो आप गर्भावस्था के दौरान हाई ब्लड प्रेशर का शिकार हो सकती हैं। चलिए कुछ कारकों पर नजर डालते हैंः

कई बार पहली प्रेग्नेंसी का अनुभव कर रही महिलाओं में ये समस्या आम होती है।
यह समस्या सामने आ सकती है अगर गर्भवती होने से पहले आपको क्रोनिक किडनी रोग या उच्च रक्तचाप था।
गर्भावस्था के दौरान आपकी आयु 40 वर्ष से अधिक है तो इसका खतरा बढ़ जाता है।
अगर आपको पहले से ही मधुमेह है, तो उच्च रक्तचाप का खतरा बढ़ जाता है।
अगर आपने पिछली गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप या प्रीक्लेम्पसिया का अनुभव किया था, तो इस बार भी हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ जाता है।
हाई ब्लड प्रेशर का पारिवारिक इतिहास है, तो भी इसका खतरा बढ़ जाता है।

गर्भावस्था के दौरान हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित महिला को कब बिना देर किए अपने डाॅक्टर के पास जाता चाहिए?

गर्भवती महिलाओं को अपने और अपने बच्चे के स्वास्थ्य की निगरानी के लिए अपने डॉक्टर के पास नियमित रूप से पूरे गर्भावस्था के दौरान जाना चाहिए। आपको अपने चिकित्सक को आपके द्वारा अनुभव की जाने वाली किसी भी स्वास्थ्य समस्या के बारे में बताना चाहिए, खासकर अगर आपको उच्च रक्तचाप के लक्षण हैं। गर्भवती होने पर उच्च रक्तचाप का प्रारंभिक उपचार अधिक गंभीर स्वास्थ्य जटिलताओं को विकसित करने की आपकी संभावनाओं को कम कर सकता है।

आपका डॉक्टर आपकी गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ रहने में मदद करने के लिए अन्य सलाहें भी देता है, साथ ही कुछ दवाओं को लेना भी जरूरी होता है। इसलिए शुरूआती महीनों से लेकर पूरी गर्भावस्था के दौरान रेगुलर चेकअप बहुत जरूरी होते हैं।

– डाॅक्टर अनुभा सिंह, आईवीएफ व स्त्री रोग विशेषज्ञ (शांता आईवीएफ सेंटर)

यह भी पढ़ेंः