इन त्योहारों में अपने नाखूनों की सुंदरता में लगाएं चार-चांद

नाखूनों की सुंदरता आपकी संपूर्ण सुंदरता को कई गुना बढ़ा सकती है। सभी समस्याएं कीटाणुओं और जीवाणुओं से शुरू होती हैं, इसलिए ये बहुत जरूरी है कि आप अपने नाखूनों को नियमित रूप से साफ करें, हमेशा धोने के बाद उन्हें सुखाने से बैक्टीरिया को बनने से रोकने में मदद मिलेगी। आपके क्यूटिकल्स बहुत नाजुक होते हैं और आसानी से फट जाते हैं इसलिए उनकी देखभाल करना नाखूनों की देखभाल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। नियमित रूप से अपने क्यूटिकल्स को मॉइस्चराइज करें। आप नारियल तेल का प्रयोग कर नाखूनों को पोषण देने के लिए धीरे से मालिश करें।

अपने नाखूनों को नियमित रूप से ट्रिम करें

नाखूनों को ट्रिम करना और उन्हें सही आकार देना उतना ही अच्छा है क्योंकि यह उनकी ताकत को बेहतर बनाने में मदद करता है, जिससे आपके हाथ सुंदर और स्वस्थ दिखते हैं।

हाइड्रेट रहें

अगर आपके नाखून बहुत अधिक टूट रहे हैं या कमजोर हो गए हैं तो बहुत कुछ संभव है कि आप पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पी रहे हैं। आपकी अच्छी सेहत और नाखूनों के चमकदार बने रहने के लिए जरूरी है कि आप पर्याप्त मात्रा में पानी पियें। इसके साथ-साथ अधिक मात्रा में अल्कोहल या कैफीन लेने से बचें ये आपके नाखूनों को नुकसान पहुंचाता है। जिस तरह से आपकी त्वचा रूखी होती है, उसी तरह आपके नाखून भी सूख जाते हैं। इसलिए सही मात्रा में पानी पीना महत्वपूर्ण है।

मैनीक्योर

अगर आप कोरोना या किसी अन्य वजह से सैलून नहीं जाना चाह रहे हैं, तो आप अपने नाखूनों को घर पर ही अच्छी देखरेख कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी विशेष ट्रेनिंग की जरूरत नहीं है, बस कुछ बाते हैं जिनका ख्याल रख कर आप अपने नाखूनों की देखभाल कर सकती हैं। चलिए बात करते हैं घर पर कैसे करें मैनीक्योरः

मैनीक्योर शुरू करने से पहले, अपने हाथों को गुनगुने पानी और एक एंटी-बैक्टीरियल साबुन से अच्छे से धो लें।

इसके बाद ये सुनिश्चित करें कि हाथ पूरी तरह से सूखे हैं और बेस कोट लगाने से पहले प्रत्येक नाखून को साफ करने और अतिरिक्त तेल हटाने के लिए थोड़ी मात्रा में नेल पॉलिश रिमूवर का उपयोग जरूर करें।

आप लंबाई, आकार और चिकनापन बनाए रखने के लिए एक फाॅइल और नेल बफ का उपयोग कर सकते हैं।

क्यूटिकल्स

अपने क्यूटिकल्स को काटने के लिए अधिक दक्षता की जरूरत होती हैं इसलिए यही सही रहेगा कि आप इसके लि सैलून ही जाएं। आप चाहें तो घर पर मैनीक्योर करते समय किसी पुशर से क्यूटिकल्स पुश कर सकते हैं।

मैनीक्योर आपके नाखूनों की सेहत को सुधारता है, अगर आपके नाखून बहुत गंदे और जल्दी जल्दी टूट जाते हैं तो, मैनीक्योर करते समय ज्यादा जल्दबाजी न दिखाएं। बेहतर रहेगा कि आप एक निश्चित अंतराल पर अपने नाखूनों की देखभाल करते रहें। इस तरह नाखून ज्यादा गंदे नहीं होंगे और एक बार में ज्यादा सफाई की जरूरत नहीं पड़ेगी।

फाइलिंग करते समय आपको कैसा शेप चाहिए ध्यान रखना चाहिए, नेचुरल शेप घर पर बनाए रखना आसाना होता है, इसलिए आप इसको चुन सकती हैं। अगर आप अच्छी क्वालिटी का फाइलर प्रयोग कर रही हैं तो इसे हल्के हांथों से आगे पीछे चला कर सही शेप पा सकती हैं। बादाम जैसा या ओवल शेप घर पर करना मुश्किल होता है। अलग-अलग आकृतियां ट्राई करना सैलून में सबसे अच्छा होता है क्योंकि वे घर पर बनाने के लिए मुश्किल होती हैं।

pedicure at home in hindi step by step, ghar par manicure kaise kare in hindi, manicure and pedicure at home home remedies in hindi, manicure pedicure benefits in hindi, manicure massage steps in hindi, manicure at home, manicure pedicure in hindi meaning, manicure in hindi meaning,

यह भी पढ़ेंः

  • सर्दियों में स्किन की सही देखभाल, के लिए ये बातें हैं जरूरी
    जिवीशा क्लीनिक, नई दिल्ली की कॉस्मेटिक डर्मेटोलॉजिस्ट व त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. आकृति गुप्ता ने सांझ संजोली पत्रिका से बात करते हुए बताए ध्यान देने वाले कुछ जरूरी उपाय सर्दियों में स्किन की सही देखभाल बेहद जरूरी हो जाती है। इससे बचने के लिए त्वचा की देख-रेख करना महत्वपूर्ण होता है। त्वचा की सही देखभाल
  • इन त्योहारों में अपने नाखूनों की सुंदरता में लगाएं चार-चांद
    नाखूनों की सुंदरता आपकी संपूर्ण सुंदरता को कई गुना बढ़ा सकती है। सभी समस्याएं कीटाणुओं और जीवाणुओं से शुरू होती हैं, इसलिए ये बहुत जरूरी है कि आप अपने नाखूनों को नियमित रूप से साफ करें, हमेशा धोने के बाद उन्हें सुखाने से बैक्टीरिया को बनने से रोकने में मदद मिलेगी। आपके क्यूटिकल्स बहुत नाजुक
  • हेयर कलर से हेल्थ को होता है नुकसान! जानें विशेषज्ञ की राय
    जिवीशा क्लीनिक, नई दिल्ली की कॉस्मेटिक डर्मेटोलॉजिस्ट व त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. आकृति गुप्ता से बातचीत पर आधारित हेयर कलर और आपकी हेल्थ हेयर कलर से हेल्थ को नुकसान होना या न होना कलर के अवयवों पर निर्भर करता है। इसके साथ ही कि आप कितनी बार कलर करते हैं। बालों के कलर में मौजूद