सांझ संजोली ज़ायकाः ये चटनियां चुटकियों दिल जीत लेंगी सभी का

ऐसा अमूमन हम सब के घरों में कभी न कभी होता है कि खाना बनाने के समय पता चलता है कि सब्जियां तो खत्म हो गईं। ऐसे में समझ नहीं आता कि अब क्या किया जाए। बाहर जाकर सब्जी लाई जाए या कुछ और जुगाड़ निकालकर काम चलाया जाए। अगर अब से आपके सामने इस तरह की असमंजस की स्थिति आए तो परेशान होने की कोई जरूरत नहीं। आज हम आपको कुछ ऐसी चटनियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो न सिर्फ सब्जी की कमी को पूरा कर देंगी, बल्कि खाने में इतनी स्वादिष्ट होंगी कि आप चटकारे लगाने को मजबूर हो जाएंगे।

1. ग्रीन चिली गार्लिक महाराष्ट्रियन चटनी
सामग्री: दो टेबलस्पून मूंगफली, आठ हरी मिर्च, चार लहसुन, दो टेबलस्पून हरा धनिया, दो टेबलस्पून ऑलिव ऑयल, नमक स्वादानुसार।

ये है विधि
सबसे पहले धीमी आंच पर हरी मिर्च को ब्राउन और सॉफ्ट हो जाने तक रोस्ट करें। इसके बाद मूंगफली रोस्ट करें और रोस्ट होने के बाद इसमें लहसुन डाल दें और इसे भी रोस्ट होने दें। ठंडा होने पर रोस्टेड मिर्च, लहसुन और मूंगफली को सिल पर दरदरा पीस लें। याद रखें इसे पीसने के लिए मिक्सी का प्रयोग नहीं करना है। अब इसमें हरा धनिया, ऑलिव ऑयल और नमक डालें और अच्छी तरह से मिक्स करें। इसके बाद गर्मागर्म परांठे, रोटी या पूड़ियों के साथ सर्व करें। ग्रीन चिली गार्लिक चटनी महाराष्ट्रियन स्वाद है। जब भी घर पर कोई सब्जी खाने का दिल न करें तो इसे बनाकर अपने स्वाद में चटकारा लगाया जा सकता है।

2. राजस्थानी चटनी
सामग्री: सबसे पहले एक पूरी गट्ठी लहसुन लें, आठ से दस साबुत लाल मिर्च, एक छोटा टुकड़ा अदरक का, आधा टेबलस्पून जीरा, दो छोटे या एक बड़ा टमाटर, दो टेबलस्पून तेल और नमक स्वादानुसार।

ये है विधि
सबसे पहले साबुत मिर्चों को करीब आधा घंटे के लिए पानी में भिगो दें। इसके बाद मिर्च, छिला हुआ एक गट्ठी लहसुन, टमाटर, जीरा, अदरक को अच्छी तरह सिल पर या मिक्सी में पीस लें। इसके बाद एक कढ़ाई में तेल को गर्म होने के लिए रखें। अच्छी तरह गर्म होने के बाद इसमें चटनी डालकर तब तक भूनें जब तक चटनी से तेल अलग न हो जाए। इसके बाद नमक मिक्स करें और गर्मागर्म चटनी के साथ रोटी, परांठा, कचौड़ी, पूड़ी सर्व करें। आप चाहें तो इस चटनी में तेल की मात्रा थोड़ी बढ़ा भी सकती हैं क्योंकि राजस्थान में तेल थोड़ा ज्यादा खाया जाता है।

भिंडी मसाला ढाबे स्टाइल, खड़े मसालों के बिना बनाएं – Instantly ready and full of flavor

3. साउथ इंडियन मूंगफली की चटनी
सामग्री: एक कटोरी मूंगफली, सात से आठ कलियां लहसुन की, तीन से चार हरी मिर्च, एक छोटी चम्मच राई, चार से पांच करी पत्ता, एक साबुत लाल मिर्च, दो से तीन चम्मच तेल, चौथाई चम्मच चने की दाल, आधा कटोरी दही या दो चम्मच अमचूर्ण, नमक स्वादानुसार और जरूरत के अनुसार पानी।

ये है विधि
सबसे पहले मूंगफली को पैन में डालकर रोस्ट करें। ठंडा होने के बाद इसके छिलके हटा दें। अब मिक्सी के जार में मूंगफली, लहसुन, हरी मिर्च को पीस लें। पीसते समय इसमें जरूरत के हिसाब से पानी डालते जाएं। महीन पिस जाने के बाद इसमें दही मिक्स करके एक बार फिर से ग्राइंड करें। यदि दही न हो तो दो चम्मच अमचूर्ण डालकर मिक्सी में चलाएं। इसके बाद एक पैन में तेल डालकर गर्म करें। तेल गर्म होने के बाद उसमें राई, करी पत्ता, साबुत मिर्च और चने की दाल डालें। इस छौंक को चटनी में डालकर दो मिनट के लिए ढंक दें। तैयार है मूंगफली की चटनी। इसे गर्मागर्म कचौड़ी, पुलाव, चीला वगैरह के साथ सर्व करें।

ये भी जान लें
कुछ लोग मूंगफली की चटनी को पीसते समय उसमें धनिया भी मिक्स करते हैं। ताकि रंगत अच्छी आए। आप भी अपनी इच्छानुसार ऐसा कर सकती हैं। आप चाहें तो पीसते समय धनिया के साथ इसमें एक चौथाई प्याज का टुकड़ा भी डाल सकती हैं। 

यह भी पढ़ेंः

Comments are closed.