बारिश में करनी पड़ती है कार ड्राइव तो ये तरीके जरूर अपनाएं

झमाझम बारिश में कार ड्राइव कर रहे हैं तो कुछ बातें हैं जिन्हें अपनी सुरक्षा के लिए आपको ध्यान रखनी चाहिए। ड्राइव करने की योजना पहले से बना लें। जैसे कि रूट पहले से ही निर्धारित करलें। साथ ही किसी वैकल्पिक रूट को भी निर्धारित कर लें। ध्यान रखें कि जल भराव की संभावना वाले क्षेत्रों से बचें, धीमी गति और संभावित भीड़भाड़ से बिना चिड़चिड़ाहट ड्राइव करें।

आइए कुछ चेकलिस्ट पर बात करते हैं, जिनका ध्यान बारिश के दिनों में कार चलाते समय रखना चाहिए।

बारिशों में कार चलाने से पहले

जांचें कि आपके विंडस्क्रीन वाइपर ब्लेड पूरी तरह काम कर रहे हैं। आगे और पीछे दोनों ब्लेड सही स्थिति में नहीं हैं तो उन्हें बदल दें।

यात्रा करने से पहले ईंधन भरने की कोशिश करें, क्योंकि ट्रैफिक में फंसने से आपकी ईंधन की खपत बढ़ जाती है।

लगातार एसी और वाइपर आदि चालू होने से, आपके नार्मल एवरेज में फर्क पड़ता है इसलिए ईंधन पर्याप्त रखने की कोशिश करें।

सड़क बंद होने व जलभराव के पूर्वानुमान के साथ अप-टू-डेट रहने के लिए न्यूज या एफएम सुनते रहें।

यात्रा के दौरान यदि आपको कोई कठिनाई न हो इसके लिए अपने मोबाइल फोन चार्ज रखें और बेहतर होगा कि आप इसे बैट्री सेविंग मोड पर रखें।

सबसे ज्यादा जरूरी है कि यात्रा शुरू करने से पहले जांचें कि आपके टायर बेहतर कंडीशन में हों। जिससे आपकी गाड़ी की पकड़ सड़कों पर बेहतर हो सकेगी।

भारी बारिश में कैसे ड्राइव करें

ध्यान रखें कि कार ड्राइव करते समय गाड़ी की गति को कम रखें। साथ ही सामने वाली गाड़ी और अपने वाहन के बीच ज्यादा जगह बनाकर चलें। क्योंकि बारिश में गाड़ी रुकने में ज्यादा समय ले सकती है।

जरूरी है कि आप डिपर हेडलाइट्स का उपयोग करें ताकि अन्य ड्राइवर आपको अधिक आसानी से देख सकें।

रियर फॉग लाइट का प्रयोग न करें। इससे आपकी ब्रेक लाइट सही तरीके से दिख नहीं पाती है।

झमाझम बारिश के दौरान बड़ी गाड़ियों को ओवरटेक न करें। इससे किसी अप्रिय घटना का खतरा बढ़ जाता है।

अपने एयर कंडीशनिंग को चालू रखें, क्योंकि यह आपकी खिड़कियों में फॉग इकट्ठा होने से बचाता है।

अगर आपकी गाड़ी मूसलाधार बारिश में खराब हो जाती है तो, बारिश रूकने तक या मकैनिक के आने तक अपने बोनट को खुला न छोड़ें। इससे आप बोनट में लगे बिजली के सिस्टम को भीगने से बचा सकते हैं।