कब्ज का जड़ से इलाज संभव है, ध्यान रखें कुछ बातों का

कब्ज का जड़ से इलाज करना जरूरी होता है। पूरी तरह से इलाज न होने पर यह समस्या बार-बार सामने आ सकती है। इसके इलाज के लिए डॉक्टर के परामर्श के साथ-साथ घरेलू सावधानियां भी रखनी जरूरी होती हैं। आज हम कब्ज के इलाज के लिए क्या जरूरी है उस पर बात करेंगे। सबसे पहले जान लेते हैं कि कब्ज के लक्षण क्या-क्या हैं?

लक्षण जो कब्ज में देखे जाते हैं

इसके लक्षणों में मलद्वार में दर्द महसूस होना व मल में रक्त सबसे अधिक देखे जाते हैं।

बाथरूम जाते समय तनाव महसूस होना

कठोर या छोटा मल त्याग

मलत्याग के बाद भी संतुष्टि की भावना का आभाव

पेट के निचले हिस्से हल्का दर्द महसूस होना

मलद्वार में सूजन महसूस होना

गुदा से रक्तस्राव होना

बवासीर की समस्या का उभरना

कैसे दूर करें कब्ज को

इस को दूर करने के लिए ध्यान रखें कि शौच करने की इच्छा को न दबाएं। अधिक फल, सब्जियां और साबुत अनाज का सेवन करें। अपने आहार में फाइबर की मात्रा को बढ़ाएं। फाइबर का सेवन करते ही परिणाम की अपेक्षा न करें। कुछ समय तक सेवन के बाद ही परिणाम आते हैं। समस्या के सामने आते ही विशेषज्ञ से जांच जरूर करवाएं। कब्ज को दूर करने के लिए डॉक्टर की सलाह व दवाएं बहुत जरूरी होती हैं।

कब्ज की जांच

इसकी जांच के लिए डॉक्टर आप से आपकी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूछ सकता है। इसके साथ-साथ मरीज का शारीरिक परीक्षण भी जरूरी होता है। कब्ज की जांच के लिए ब्लड टेस्ट व पेट का एक्स-रे भी जरूरी होता है। साथ विशेषज्ञ आपको बेरियम एनीमा, कोलोनिक ट्रांजिट, शौच, एनोरेक्टल गतिशीलता टेस्ट और कोलोनिक गतिशीलता टेस्ट आदि के लिए भी बोल सकते हैं।

कब्ज का जड़ से इलाज व घरेलू समाधान
पानी पीना है जरूरी

निर्जलीकरण अकसर कब्ज की समस्या को पैदा कर देता है। इसलिए सही मात्रा में पानी पीना बहुत जरूरी है। साथ ही शराब और अधिक कॉफी के सेवन से भी बचना चाहिए। सही मात्रा में पानी आपके पेट को चिकनाई देने में मदद करता है। अगर आप सादा पानी नहीं पी पा रहे हैं तो नींबू पानी भी ले सकते हैं।

आपकी दिनचर्या और कब्ज

कब्ज का जड़ से इलाज बहुत हद तक आपकी दिनचर्या पर निर्भर करता है। कोशिश करें कि सुबह शौचायल जाने का एक समय हो। टॉयलेट में हड़बड़ी न करें। इसका ध्यान रखें कि जब भी आपको प्रेशन फील हो, आप उसे टालें नहीं।

व्यायाम और कब्ज

व्यायाम कब्ज का जड़ से इलाज करने का सबसे कारगर तरीका साबित हो सकता है। रोजाना कसरत करें। कम से कम आपको सप्ताह में पांच दिन जरूर व्यायाम करना चाहिए। व्यायाम से आंत में मूवमेंट सही तरह से होती है। बहुत से लोग व्यायाम करने से बचते हैं ये नुकसानदायक हो सकता है। आज से ही स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए कम से कम 15 मिनट व्यायाम से शुरुआत करें।

फल और सब्जियों से कब्ज में राहत

फलों का सेवन आपके कब्ज को दूर करने में सहायक हो सकता है। उदाहरण के लिए नींबू जिसमें उच्च साइट्रिक एसिड होता है। यह आपके पाचन तंत्र को गतिमान करने में लाभकारी हो सकती है। उच्च फाइबर वाली सब्जियां व फल कब्ज में बहुत लाभकारी होते हैं।

जैतून का तेल और कब्ज की समस्या

जैतून का तेल प्राकृतिक रूप् से कब्ज को दूर करने में मदद कर सकता है। कब्ज से पीड़ित व्यक्ति इसका नियमित रूप से सेवन कर सकता है। इसके लिए जैतून का तेल को चम्मच में लें, आप इसमें थोड़ा नींबू भी मिला सकते हैं। इससे आंतों में मूवमेंट सही तरह से होने में सहायता मिल सकती है। यह कब्ज की समस्या को कम करने में सहायक होता है।

स्वास्थ्य संबंधी समस्या के सामने आने पर सबसे पहले डॉक्टरीय सलाह लेनी चाहिए। आर्टिकल का उद्देश्य जानकारी देना मात्र है। हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करें। आप सांझ संजोली पत्रिका से इस्टाग्राम पर जुड़ सकते हैं। आपको बेहतर और सटीक जानकारी प्रदान करना ही हमारा लक्ष्य है।