खुजली के घरेलू इलाज के लिए ध्यान रखें इन बातों का

त्वचा पर दाने, चकत्ते या खुजली हो जाने पर बहुत ज्यादा परेशानी होती है। खुजली के घरेलू इलाज से कई बार ये परेशानी एक या दो दिन में अपने आप हल हो जाती है। कुछ घरेलू उपचारों से भी त्वचा में होने वाली खुजली आदि समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन एक या दो दिन में परेशानी से छुटकारा न मिलने पर इस परेशानी पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। आइए जानते हैं कि कब बिना देर किए आपको डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिएः

त्वचा अधिक लाल या फीकी पड़ जाने पर
धब्बा या गहरे चकत्ते पड़ने पर
अंगूठी के आकार का धब्बा दिखने पर
त्वचा पर फफोले
बहुत अधिक लगातार खुजली
त्वचा पर उठा हुआ पैच दिखने पर
घाव नजर आने पर
मवाद या पपड़ीदार व सूजन के दिखने पर
त्वचा मोटी होने या मोटा पैच नजर आने पर

ऑगेनिक फूड

त्वचा पर खुजली होना परेशानी भरा होता है। इससे निपटने के लिए खुजली के घरेलू इलाज के तौर पर अपने खानपान में जैविक खाद्य पदार्थों की संख्या को बढ़ाना फायदेमंद हो सकता है। विषाक्त कीटनाशकों और रसायनों के संपर्क में आए हुए खाद्य पदार्थ कई तरह से सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं।

प्रोटीन

सही मात्रा में प्रोटीन शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है। जिससे ये किसी भी प्रकार के संक्रमण से आपकी रक्षा करता है। भोजन में प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों को जरूर शामिल करें। इससे त्वचा के संक्रमण से लड़ने में मदद मिलेगी।

तेल

जैतून का तेल या नारियल तेल कई तरह की त्वचा संबंधी समस्याओं को खत्म करने की ताकत रखता है। अगर आपकी त्वचा रूखी हो जाती है, और उस कारण से त्वचा में खुजली या खिचाव महसूस होता है। तो नारियल या जैतून का तेल बहुत फायदेमंद हो सकता है।

एलोवेरा

त्वचा संबंधी समस्या के लिए एलोवेरा बहुत अच्छा प्राकृतिक उपचार है। किसी तरह के चकत्ते या फिर रूखापन आदि के लिए एलोवेरा बहुत अच्छा रहता है। इसके साथ ही त्वचा पर सूजन और लालिमा को कम करने में भी काम आता है। एलोवेरा खुजली को कम करने में भी मदद करता है। इसे आप दिन दो से तीन बार त्वचा पर आराम से प्रयोग कर सकते हैं। रैशेज से छुटकारे के लिए भी एलोवेरा फायदेमंद साबित हो सकता है।

तला भोजन

खुजली या किसी त्वचा संबंधी परेशानी से जूझ रहे व्यक्ति को तले भोजन से परहेज करना चाहिए। तले हुए भोजन का पाचन कठिन होता है। साथ ही इस प्रकार का भोजन आपकी परेशानी को और भी अधिक बढ़ा सकता है।

त्वचा की नमी

जिस जगह खुजली हो रही हो उस जगह को में नमी बनाए रखें। बर्फ के पानी में भिगोया कपड़ा प्रभावित जगह पर लगाने से भी आराम मिलेगा। लेकिन इस बात का ध्यान रखें बार-बार गीला करने और सुखाने से आपकी त्वचा रूखी हो सकती है। इसलिए इस उपचार को सिर्फ बहुत समस्या होने पर ही अपनाएं। जल्द से जल्द डॉक्टर की सलाह लें। इसके साथ-साथ गर्म पानी से नहाने से बचना आपके लिए अच्छा रहेगा।

कोशिश करें कि सूरज की सीधी किरणों के संपर्क में न आएं। धूप में अधिक देर तक न रहें। गर्मी से खुजली बढ जाने का खतरा होता है।

साबुन का अधिक प्रयोग न करें। अगर संभव हो तो किसी0 सौम्य साबुन का ही प्रयोग करें। कठोर साबुन आपकी त्वचा में रूखापन बढ़ा सकता है।

व्यायाम को अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। तनाव से बचें। खासकर सोने से पहले दिन के सभी तनावों से ध्यान हटाने का प्रयत्न करें।

सांझ संजोली पत्रिका से जुड़ने के लिए आप हमारे फेसबुक पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।
यह भी पढ़ेंः