Aloe Vera के सेवन से पहले जरूर जान लें ये बातें

Aloe Vera का प्रयोग लंबे समय से प्राकृतिक सौंदर्य प्रसाधनों में किया जा रहा है, लेकिन ये सिर्फ स्किन के लिए ही बेहतर नहीं होता, बल्कि सेहत के लिहाज से भी काफी उपयोगी माना जाता है। एलोवेरा को भारत में ग्वारपाठा और घृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता है। ग्वारपाठा त्वचा में कसाव लाता है, चमकदार बनाता है और त्वचा के दाग धब्बों को दूर करने में मददगार है। वहीं बात अगर सेहत की करें तो पेट से जुड़ी तमाम समस्याओं को ठीक करने का ये अहम जरिया है। ऋग्वेद में घृतकुमारी को लेकर काफी बातें कही गई हैं। यही कारण है कि तमाम लोग इसका जूस, सब्जी, हलवा आदि बनाकर इसका सेवन करते हैं। लेकिन अगर आप इसका सेवन करने जा रहे हैं तो एक बार किसी विशेषज्ञ की सलाह जरूर ले लें क्योंकि हर चीज के तमाम फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी होते हैं। एलोवेरा का गलत प्रयोग आपके लिए तमाम समस्याएं उत्पन्न कर सकता है। यहां जानें एलोवेरा से क्या क्या नुकसान हो सकता है।

1. मासिक धर्म की अनियमितता को ठीक करने मेंका सेवन काफी मददगार माना जाता है, लेकिन यदि महिला गर्भवती है, तो उसे इसके सेवन से परहेज करना चाहिए। इससे गर्भपात का खतरा रहता है। साथ ही गर्भाशय संकुचन और बच्चे में कोई दोष भी आ सकता है।

2. कई बार लोग फायदे के चक्कर में इसका अधिक सेवन कर लेते हैं। अत्यधिक सेवन से शरीर में पोटेशियम की कमी हो सकती है जिसके कारण आपको घबराहट या कमजोरी जैसी समस्या महसूस हो सकती है।  

3. इसके रस का सेवन करते हैं तो किसी विशेषज्ञ से उसे लेने का तरीका जरूर जान लें। खुद डॉक्टर बन कर अपने आप न लें। एलोवेरा का रस अत्यधिक बार पीने से कभी कभी खुजली, एलर्जी या स्किन पर दाने वगैरह हो सकते हैं। कुछ लोगों को शरीर पर सूजन भी महसूस हो सकती है। इसके अलावा एलोवेरा के रस में मौजूद एन्थ्राक्विनोन नामक  पदार्थ कभी कभी डायरिया की समस्या भी पैदा कर देता है।

4. यदि आप किसी बीमारी से ग्रसित हैं और लंबे समय से दवाओं का सेवन कर रहे हैं, तो एलोवेरा का सेवन अपने विशेषज्ञ से पूछकर ही करें। दरअसल एलोवेरा में लैक्सेटिव मौजूद होता है जो कई बार कुछ दवाओं का अवशोषण रोक देता है। ऐसे में आपकी समस्या बढ़ सकती है। इसके अलावा एलोवेरा में मौजूद लेटेक्स कोलाइटिस, क्रोहन रोग, एपेंडिसाइटिस, डायवर्टिकुलोसिस, आंतों की बाधा, रक्तस्राव, पेट दर्द और अल्सर जैसी समस्याएं भी उत्पन्न कर सकता है। लिहाजा किसी जानकार से सलाह लेकर ही इसका प्रयोग करें।

5. एलोवेरा का अधिक सेवन कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा बढ़ाता है। साथ ही किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है। यदि आपको पहले किडनी स्टोन रह चुका है तो इसके सेवन से पहले विशेषज्ञ से राय जरूर लें।

6. दिल के रोगियों को एलोवेरा का सेवन हमेशा डॉक्टर की सलाह लेकर ही करना चाहिए। कई बार इसके सेवन से धड़कन की अनियमितता की समस्या हो जाती है, जिसके कारण उन्हें घबराहट महसूस हो सकती है। इसके अलावा इसके अधिक सेवन से शरीर से ज्यादा मात्रा में एड्रेनालाइन हार्मोन उत्पन्न हो सकता है। एड्रेनालाइन एड्रेनल ग्रंथियों और कुछ न्यूरॉन्स द्वारा स्रावित हार्मोन है जो आमतौर पर जो संकट के क्षणों में स्रावित होता है। इसके कारण दिल की धड़कन काफी तेज हो जाती है। ऐसे में हृदय  रोगियों के लिए समस्या हो सकती है।

7. यदि आप गैस की समस्या से जूझ रहे हैं तो एलोवेरा का सेवन करने से परहेज करें। ये गैस की समस्या को बढ़ा सकता है। 12 साल से कम उम्र के बच्चों को एलोवेरा नहीं देना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः