महिलाओं में हार्ट अटैक के मुख्य लक्षण और दिल के दौर से बचने के उपाय

महिलाओं में हार्ट अटैक की समस्या आश्यचर्यजनक रूप से बढ़ रही है। इसका कारण हृदय से जुड़ी समस्याओं का समय पर ईलाज न करवाना भी है। आइए जानते हैं महिलाओं में हार्ट अटैक किन कारणों से आ सकता है।

कोरोनरी संबंधित समस्या

इस समस्या को सीएडी भी कहते हैं। यह दिल के दौरे का ये सबसे आम कारणों में से एक है। सीएडी से पीड़ित महिला की धमनियां संकरी हो जाती हैं। जिस वजह से रक्त को हृदय तक पहुंचने में कठिनाई होती है। हार्ट तक सही तरह से खून न पहुंच पाने की वजह से सीएडी की समस्या उत्पंन होती है। उर्म बढ़ने के साथ-साथ हृदय रोग की संभावना भी बढ़ती है। महिलाओं को हृदय रोग से बचाव के लिए कदम उठाने जरूरी होते हैं। पुरुषों और महिलाओं दोनों को दिल का दौरा पड़ता है।

महिलाओं में ये समस्या अधिक विकराल हो जाती है। सही समय पर ईलाज हार्ट को पहुंच रहे नुकसान की भरपाई कर सकता है। दिल के दौरे के लक्षण सामने आते ही बिना देर किए डॉक्टर से मिलना जरूरी हो जाता है।

महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण

सीने में दर्द या संकुचन की भावना होना हार्ट अटैक का सबसे ज्यादा देखे जाने वाला लक्षण है।

जबड़े और दांत में दर्द

बिना अधिक मेहनत के सांसों का तेज चनला या सांस लेने में परेशानी

मतली या उल्टी जैसा महसूस होना भी इसका लक्षण हो सकता है

कमरे के तापमान में भी अधिक पसीना आने लगना

बाएं हाथ या कंधे में दर्द महसूह होना

पीठ के उपरी हिस्से में दर्द जोकि झुकने पर और बढ़ जाता है

बहुत अधिक कमजोरी और थकावट महसूस होना

कुछ महिलाओं में हार्ट अटैक से पहले कोई भी लक्षण देखने को नहीं मिलते हैं। इस स्थिति को साइलेंट हार्ट अटैक कहते हैं। इसी लिए समय-समय पर शरीर का संपूर्ण चेकअप करवाते रहना जरूरी होता है।

महिलाएं हार्ट अटैक से बचने के लिए क्या करें

सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप अपना वजन नियंत्रित करें। अधिक वजन होने से हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। आपको समय-समय पर अपना बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) चेक करते रहना चाहिए। सही वजन बनाए रखने के लिए स्वस्थ्य भोजन करना बहुत जरूरी है।

अपने आहार में अधिक फल, सब्जियां और साबुत अनाज शामिल करें।

दिन में कम से कम आधा घंटा व्यायाम को दें। स्वस्थ्य शरीर और बीमारियों से बचने के लिए व्यायाम बहुत उपयोगी साबित हो सकता है। अगर आप बहुत अधिक इंटेंस व्यायाम करने में असमर्थ हैं तो योग व पैदल चलने से शुरूआत कर सकते हैं।

शराब आपके दिल के लिए हानिकारक है। शराब के सेवन को बंद या सीमित करें।

तनाव को खुद से दूर रखें। काम की टेेंशन को अपने दोस्तों और परिवार वालों से शेयर करें। आप तनाव को

कम करने के लिए योग का भी सहारा ले सकतीं हैं।

हार्ट अटैक के खतरे को कम करने के लिए उठाए जाने वाले कदम

शारीरिक रूप से सक्रिय रहें

धूम्रपान न करें

संतुलित भोजन करें, फास्टफूड का सेवन न करें

अपने वजन को नियंत्रित रखें

अपना ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल समय-समय पर चेक करवाते रहें

हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करें। आप सांझ संजोली पत्रिका से इस्टाग्राम पर जुड़ सकते हैं। आपको बेहतर और सटीक जानकारी प्रदान करना ही हमारा लक्ष्य है।

यह भी पढ़ेंः