(Nasal polyps) नाक पॉलीप्स: लंबे समय से नाक बंद है तो हो जाएं सावधान!

symptoms of nasal polyps, shrink nasal polyps fast, how to cure nasal polyps permanently, nasal polyps types, nasal polyps treatment miracle, nasal polyps surgery, nasal polyps symptoms dizzy, nasal polyps cancer,

नाक बंद होने पर हमें लगता है कि ये जुखाम की वजह से बंद होगी। जो कि अधिकतर मामलों में होता है। लेकिन अगर आपकी नाक लंबे समय तक बंद हो तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। आज हम बात करने जा रहे हैं नेजल पाॅलीप्स (Nasal polyps) की, इसमें नाक के अंदर अंगूर के गुच्छे की तरह का अस्वभाविक विकास हो जाता है। जिसकी वजह से नेजल कंजेशन, नाक का बहना, साइनस की समस्या बढ़ जाती है। कुछ मामलों में नाक का लेफ्ट या राइट द्वार पूरी तरह से बंद हो जाता है। जिससे सांस लेने में कठिनाई का अनुभव होता है। रात में सोते समय खर्राटों की तेज आवाज आती है। इलाज न मिलने पर नेजल पाॅलीप्स (Nasal polyps) से खून तक रिसने लगता है, जोकि मुंह या नाक से बाहर आता है। कम शब्दों में समझें तो नाक के पॉलीप्स (नॉनकैंसर) ग्रोथ हैं जो नाक मार्ग और साइनस के अंदर बन सकते हैं। ये आम तौर पर समूहों में बनते हैं। ये पाॅलीप्स नाक के दोनों तरफ विकसित हो सकते हैं।

नाक पॉलीप्स का कारण
नेजल पाॅजीप्स का सटीक कारण पता नहीं लगाया जा सका है। लेकिन ये जरूर है कि अधिकतर मामलों में ये साइनस की वजह से लंबे समय बनी रहने वाली सूजन से जुड़ें हुए हैं। कुछ मामलों में एलर्जी के कारण भी इसका खतरा बना रहता है। साथ ही लंबे समय तक पैसिव स्मोकिंग के कारण भी ये समस्या पैदा हो सकती है। कुछ लोगों में, दूषित तत्व एक असामान्य प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को ट्रिगर करते हैं जो नाक के पाॅलीप्स के रूप में अत्यधिक सूजन की रूप में नजर आता है।

लक्षण
नेजन पाॅलीप्स से पीड़ित व्यक्ति को इस समस्या का जल्द से जल्द पता लगना जरूरी होता है। अधिकतर मामलों में शुरुआत में, नाक के पाॅलीप में कोई लक्षण नहीं होते हैं, जैसे-जैसे वे बड़े होते हैं, पीड़ित व्यक्ति भरी हुई नाक, खांसी, सिरदर्द, गंध और स्वाद की कमी और साइनस बढ़ने का अनुभव कर सकते हैं। ये लक्षण कई अन्य स्थितियों, जैसे सामान्य सर्दी, फ्लू और एलर्जी में भी सामने आते हैं इसलिए अगर आपको ऐसे लक्षण महसूस हों तो अपने प्राथमिक चिकित्सक या किसी ईएनटी स्पेशलिस्ट से परामर्श करें।

क्या नेजल पॉलीप्स खतरनाक है
विशेषज्ञों के अनुसार नेजन पाॅलीप्स जानलेवा नहीं है। लेकिन नेजन पाॅलीप्स से पीड़ित व्यक्ति को कई तरह की असुविधाओं का सामना करना पड़ता है। इन असुविधाओं में नाक बंद होना, रात में खर्राटे आना, लगातार छीकें आ सकती हैं इसके साथ-साथ गंभीर परिस्थियों में सांस लेने में दिक्कत होना, पाॅलीप्स से खून का रिसाव होना जैसी समस्या हो सकती है। अगर आपकी नाक लंबे समय से बंद है तो बिना देर किए आपको डाॅक्टर को दिखाना चाहिए।

नाक के पाॅलीप्स का इलाज
नेजल पॉलीप्स का इलाज पाॅलीप्स की संख्या और आकार के आधार पर निर्भर करता है। इसको ध्यान में रखकर डॉक्टर दवा, सर्जरी या दोनों लिख सकता है। शुरूआती मामलों में दी जाने वाली दवा में आमतौर पर नाक के पॉलीप्स को सिकोड़ने या उन्हें हटाने के लिए दी जाती है। नेजल पॉलीप्स को निकालने के लिए कुछ मामलों में सर्जरी आवश्यक हो सकती है। एंडोस्कोपिक सर्जरी आमतौर पर नाक से की जाती है। इससे त्वचा में कोई चीरा नहीं लगाना पड़ता।