लाॅकडाउन में बाॅडी बना रहे हैं तो रखें ध्यान!

रेज़िस्टेंस ट्रेनिंग एक्सरसाइज़ क्या है
रेज़िस्टेंस ट्रेनिंग एक्सरसाइज़ कोई भी व्यायाम है जहां मांसपेशियां बाहरी रेज़िस्टेंस के खिलाफ अपनी ताकत बढ़ाती हैं। ये रेज़िस्टेंस डंबल, वेट मशीन, लास्टिक ट्यूबिंग या आपके शरीर के वजन (उदाहरण के लिए, पुशअप्स), या किसी अन्य वस्तु से हो सकता है जो आपकी मांसपेशियों की ताकत बढ़ाता है। इसमें निश्चित रूप से परिणाम आने में समय लगता है लेकिन जब आप समय के साथ लगातार प्रशिक्षण लेते हैं तो आपको परिणाम जरूर नजर आता है।

कितने सेट करने चाहिए
जो लोग व्यायाम प्ररंभ करते हैं उनके द्वारा यह सबसे ज्यादा पूछे जाने वाला प्रश्न होता है। शुरुआत में आप प्रति अभ्यास एक सेट के रूप में शुरू कर सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि मांसपेशियां अप्रशिक्षित व्यक्तियों में व्यायाम का प्रतिरोध करने के लिए तेजी से प्रतिक्रिया करती हैं। कई बार शुरूआत में अधिक सेट करने पर शरीर पर कुछ प्रतिकूल प्रभाव भी पड़ सकते हैं। धीरे-धीरे आप सेट्स की संख्या बढ़ा सकते हैं। सबसे अच्छा होता है अगर आप शुरूआत किसी विशेषज्ञ की निगरानी में करें।

लाॅकडाउन में कुछ इस तरह सुधारें आपसी रिश्ते को

सप्ताह में कितने दिन
मासपेशियों के व्यवहार की वजह से शुरूआती दो से तीन दिनों के प्रशिक्षण के साथ ही आपको लाभ दिखने लगता है। डम्बल उठाने की आपकोे प्रति सप्ताह कम से कम तीन दिन की आवश्यकता होती है, और अधिक लाभ के लिए विशेषज्ञ की सलाह पर ही सप्ताह में और अधिक दिन भी आप डम्बल उठा सकते हैं। तगड़े और लगातार व्यायाम करने वाले एथलीटों के लिए प्रति सप्ताह चार से पांच दिन भार उठाना कोई बड़ी बात नहीं है। जरूरी है कि आप अपनी मांसपेशियों के आराम का भी ख्याल रखें।

सेट और दिनों के बीच कितना आराम
हर एक सेट के बीच आराम के समय की पर ध्यान देना चाहिए, यह आपके रिज़ल्ट्स को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है। सबसे अच्छा तो ये है कि आप हर एक सेट के बीच तीन मिनट तक आराम करें। आप अगर तीन मिनट मांसपेशियों को थकान से उबरने देंगे तो आप अगले सेट के लिए पर्याप्त ऊर्जा और उत्साह फील करेंगे। अधिकतर विशेषज्ञ लोगों को दो सेट्स के बीच में डेढ़ से दो मिनट रेस्ट की सलाह तो जरूर देते हैं। सही परिणाम सुनिश्चित करने के लिए सेट के बीच ब्रेक लें, लेकिन मांसपेशियों को आराम देते ही दोबारा से सेट्स शुरू कर दें।

कोरोना वायरसः योग को बनाएं अपना साथी!