खूबसूरत पेंटिंग कलेक्शन जिसे देख आप भी कह उठेंगे “भाई वाह”!

क्या आप कोरोना वायरस, लाॅकडाउन जैसी ख़बरें सुन-सुन कर परेशान हो गए हैं? तो ये बात पक्की है कि ये ख़बर आपको नई प्रेरणा और सकारात्मक उर्जा से भर देगी। हम सभी रंगों से सजी इस दुनिया में रहते हैं, जब भी कोई कलाकार अपने मन के भावों को रंगों और ब्रुश के माध्यम से कागज पर उकेरता है तो समाज में कई लोगों को प्रेरणा मिलती है। आज हम एक ऐसे ही एक चित्रकार के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपनी खूबसूरत पेंटिंग कलेक्शन से समाज में बहुत से लोगों को प्रेरित किया है।

उत्तर प्रदेश के शहर हमीरपुर में जन्मे व राजधानी लखनऊ में रहने वाले चित्रकार सुरजन जी जो 80 के दशक से अपनी चित्रकारी से कईयों को प्रेरणा देते रहे हैं।
चित्रकार सुरजन जी

हमीरपुर जनपद (उ0प्र0) में जन्मे व राजधानी लखनऊ में रहने वाले चित्रकार सुरजन जी, जो 80 के दशक से अपनी चित्रकारी से कईयों को प्रेरणा देते रहे हैं। चित्रों के माध्यम से अपने मन के भावों को कागज पर हूबहू उतार लेना इनकी खासियत है। लोगों को ये बात रोमाचिंत करती है कि सुरजन जी ने कभी चित्रकारी की शिक्षा नहीं ली है।

इन्होंने अपने चित्रों के माध्यम सेे मन के कई भावों को प्रदर्शित करने का प्रयत्न किया है। उनके चित्रों में धर्म की विजय, आध्यात्म की प्रेरणा, जीवन के मोहपाश में बंधे मनुष्य साथ ही अंतरमन के विभिन्न भावों को बखूबी देखा जा सकता है।

खूबसूरत पेंटिंग कलेक्शन पर क्या बोले सुरजन जी

सांझ संजोली पत्रिका से बात करते हुए चित्रकार सुरजन जी ने बताया कि मुझे चित्रकारी का शौक 1980 से रहा है। मैं विज्ञान का छात्र रहा हूं, लेकिन मेरी रूचि हमेशा से चित्रकारी की तरफ रही है। वर्ष 1982 में शासकीय सेवा में आने के बाद समय न मिल पाने के कारण लगभग 35 वर्षों तक चित्रकारी से दूरी बनी रही। इसी दौरान आध्यत्मिक गुरू के शरण में जाने पर चित्रकारी की प्रेरणा मिली और वर्ष 2019 में विशेष सचिव (उ0प्र0 शासन) के पद से सेवानिवृत होने के बाद  चित्रकारी से मेरा नाता अटूट हो गया। आज जब पूरा विश्व कोरोना वायरस से परेशान है, पूरा देश लाॅकडाउन के कई चरणों को जी रहा है। हमें अपने मन को स्थिर और सकारात्मक रखने के लिए अपने हुनर को पहचानने की जरूरत है।

Born in the city of Hamirpur in Uttar Pradesh and living in the capital Lucknow, Surjan Ji, who has been inspiring many people since 80s.
हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करें। आप सांझ संजोली पत्रिका से इस्टाग्राम पर जुड़ सकते हैं। आपको बेहतर और सटीक जानकारी प्रदान करना ही हमारा लक्ष्य है।