अपने सपनों की कार की करें सही देखभाल – Car care tips

हम आपकी कार को सही ढंग से बनाए रखने के बारे में कुछ ऐसी बाते बताने जा रहे हैं जो निश्चित ही आपके वाहन के लिए फायदेमंद साबित होंगी। इन सुझाओं का उद्देश्य वाहन स्वामी के रूप में आपके जीवन को आसान बनाना है।

नियमित निरीक्षण
आपकी कार की रखरखाव चेकलिस्ट बहुत आसान है और कुछ प्रयत्न करके आप इसे आसानी से कर सकते हैं। महत्वपूर्ण बात यह भी है कि आपको यह पता होना चाहिए कि कार का निरीक्षण कब करना चाहिए। जितना संभव हो, आपको स्वयं निरीक्षण करना चाहिए। कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो यह कठिन प्रक्रिया बिल्कुन नहीं है। निरीक्षण करना काफी आसान है, खासकर यदि आप जानते हैं कि आपको किन चीजों पर गौर करना है। निरीक्षण के लिए आप गाड़ी से साथ मिले मैनुअल को सही तरह से पढ़ें, मैनुअल में चित्रों के माध्यम से बहुत आसानी से गाड़ी के निरीक्षण की बाते बताई जाती है। निरीक्षण के बाद अगर आपको कोई चीज सही नहीं दिखती है, तो आप इस पर ध्यान दे सकते हैं और एक पेशेवर मकैनिक से उसकी मरम्मत करवा सकते हैं।

विभिन्न चेतावनी जैसे प्रकाश संकेतकों का अर्थ जानें
आधुनिक कारों में परिष्कृत सेंसर और चेतावनी प्रणालियां होती हैं जो आपको सूचित करती हैं कि कार के किस क्षेत्र में समस्या है। यहां तक कि सावधानीपूर्वक निरीक्षण और रखरखाव के साथ कुछ बाते छूट सकती है लेकिन इन परिष्कृत सेंसर और चेतावनी प्रणालियांे से कुछ भी नहीं छूटता। बस आपको विभिन्न चेतावनी या लाइट संकेतकों के अर्थ को जानने की जरूरत होती है जो आपके इंस्ट्रूमेंट पैनल पर फ्लैश करते हैं।

ऽ इंजन की रोशनी – यह आमतौर पर आपकी कार की मोटर के विभिन्न घटकों में से किसी समस्या को इंगित करती है जिसमें सेंसर लगे होते हैं। यदि आपको यह सूचक प्रकाश नजर आता है, तो आप सटीक खराबी जांचने के लिए स्कैनर उपकरण का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप किसी तकनीशियन मदद ले सकते हैं।

ऽ सर्विस इंजन लाइट – यह एक संकेतक प्रकाश है जो आमतौर पर आपको निर्धारित रखरखाव का टाइम पास आने पर दिखने लगता है। यह सर्विस इंजन या किसी अन्य रूप के प्रिंट में आ सकता है। आप इस सूचक प्रकाश के सटीक जानकारी के लिए अपने मैनुअल की जांच कर सकते हैं।

ऽ इलेक्ट्रिकल फॉल्ट लाइट – अगर यह लाइट आपको कार के सेल्फ-टेस्ट करने के बाद भी दिखाई देती है, तो इसका सीधा सा मतलब है कि आपकी कार के इलेक्ट्रिकल चार्जिंग सिस्टम में कुछ समस्याएं हैं जिनका आकलन करना बहुत जरूरी है।

ऽ ब्रेक वार्निंग लाइट – इसका मतलब यह हो सकता है कि आपके पार्किंग ब्रेक लगे हुए हों या आपके ब्रेक के फ्लुइड लेवल को ऊपर लाने की आवश्यकता हो। कुछ वाहनों में यह किसी अन्य बात का इशारा भी हो सकता है इसलिए सबसे अच्छा यह रहेगा कि आप इसकी अपने मैनुअल से जांच करें।

ऽ ओवरहीट चेतावनी लाइट – इसका यह मतलब हो सकता है कि आपका इंजन ओवरहीट हो रहा है। ऐसा होने पर आप गाड़ी का हुड खोलें, और बस इंजन ठंडा होने दें। ऐसी स्थिति में कभी भी रेडिएटर कैप को खोलने का प्रयास न करें।

मिलिए देश को सालों से गुदगुदाने वाले गोकुल धाम निवासियों से

ऽ ऑयल वार्निंग लाइट – यह आमतौर पर चमकता है अगर आपके इंजन में तेल का दबाव बहुत कम है। कभी भी इस चेतावनी के प्रकाश के साथ अपने वाहन को चलाने का प्रयास न करें क्योंकि यह आपके इंजन को नुकसान पहुंचा सकता है। यह चेतावनी प्रकाश कम तेल के स्तर, तेल पंप की विफलता या तेल फिल्टर में रुकावट से दिखाई दे सकता है।

टायर के दबाव की जांच
टायर में गलत एयर प्रेशर गाड़ी की हैंडलिंग को भी प्रभावित करता है। ऐसे गैजेट और उपकरण बाजार में आते हैं जिनके उपयोग से आप टायर के दबाव को जांच सकते हैं। आदर्श रूप से, यह साप्ताहिक आधार पर किया जाना चाहिए, हालांकि इसे अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने से आपको फायदा होगा। कुछ कारों में टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम लगा होता है। जिससे आप आसानी से इस पर नज़र रख सकते हैं। जब आप नए टायर लगवाते हैं तो आपको जागरूक रहना चाहिए। आपको ऐसे टायर की आवश्यकता होती है जो सभी मौसम की स्थितियों में कार्य कर सके। अच्छी बात ये कि अच्छी कंपनी के टायर बाजार में आने से पहले सभी टेस्ट को पास करते हैं, इसीलिए आपको बस सही कंपनी के टायर का चुनाव करना है।

पहिए का संतुलन
पहिया का सही संतुलन बुनियादी कार रखरखाव के महत्वपूर्ण पहलू हैं, क्योंकि ये आपकी कार के सही संचालन में एक बड़ी भूमिका निभाता है। साथ ही आपकी सुरक्षा के लिए भी संतुलन का सही होना बहुत आवश्यक होता है। इसीलिए अगर आपको कार चलाते समय बबलिंग महसूस हो तो तुरंत पहिए के संतुलन की जांच करवानी चाहिए।

यह भी पढ़ेंः