क्योंकि आपकी एक हंसी बिखेरती है हजारों खुशियां

दातों की सेहत का रखें ख्याल

दंत रोग विशेषज्ञ डाॅक्टर अशोक गंभीर से बातचीत पर आधारित

मुस्कुराने हंसने और बात करने के अलावा मुंह और दांत शरीर में महत्वपूर्ण कार्य करते हैं। ये हमारे दांत और लार ही हैं जो भोजन को तोड़ते हैं। दांत चेहरे को आकार देने में भी बहुत बड़ा योगदार देते हैं। मुंह और गले में प्रतिरक्षा कोशिकाएं भी होती हैं जो शरीर को कई रोगों से बचाने में मदद करती हैं। मुंह और दांतों की अच्छी देखभाल करना अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने का एक अनिवार्य हिस्सा है। अधिकतर लोग आज कल दांतों की संवेदनशीलता से परेशान रहते हैं। दांतों की संवेदनशीलता तब होती है जब गर्म, ठंडा, मीठा या अम्लीय पदार्थ दांतों की नसों में जलन पैदा करते हैं।

संवेदनशील दांतों के कारण क्या है
दांत एनामेल नामक एक सुरक्षात्मक पदार्थ द्वारा कवर किए जाते हैं। गम लाइन के नीचे सुरक्षात्मक पदार्थ को सीमेंटम कहा जाता है। एनामेल और सीमेंटम के नीचे की परत डेंटिन है। यही पदार्थ हमारे दांत में होने वाली सेंसटीविटी से हमें बचाते हैं। इन्हीं पदार्थों के बिगड़े संतुलन की वजह से ही में दातों में संवेदशीलता महसूस होती है।

दांतों की संवेदनशीलता को कैसे कम करें
नर्म टूथब्रश और संवदेशनशील दांतों के लिए उपयुक्त टूथपेस्ट ही उपयोग करें। इस तरह के टूथपेस्ट सभी के लिए फायदेमंद नहीं होते पर शुरुआत के लिए यह सही है। अच्छा रहेगा कि आप अपने डाॅक्टर से परामर्श करने के बाद किसी सही पेस्ट का प्रयोग करें। इसके साथ-साथ आप अपने ब्रश करने का तरीका बदल सकते हैं। अपने दांतों को ज्यादा जोर से रंगड़ कर ब्रश न करें इससे उनकी चमक जल्दी फीकी पड़ जाएगी। अपने सफेद चमकदार दांतों पर हल्के हाथों से और आराम से ब्रश करें। कुछ लोगों में दातों को पीसने की आदत होती है। दांतों को पीसने या टकराने से इनेमल हट जाता है और आपको सेंस्टिविटी का अनुभव होता है।

आइए जानते हैं दातों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए क्या करें-

दिन में कम से कम दो बार ब्रश करें। भोजन के बाद दांतों को ब्रश करने का सबसे अच्छा समय है। पीछे के दांतों तक बेहतर पहुंच के लिए एक छोटे सिरे वाला टूथब्रश चुनें। साथ ही सॉफ्ट ब्रिसल्स आपके मसूड़ों के लिए सबसे अच्छे होते हैं।

अच्छी तरह से ब्रश करें। टूथ ब्रशिंग न तो अधिक देर तक करना चाहिए और न ही बहुत कम, आपको ब्रश दो से तीन मिनट के बीच करना चाहिए।

शर्करा युक्त भोजन सीमित करें। दंत में बैक्टीरिया शर्करा को एसिड में बदलते हैं जो आपके दातों के लिए सही नहीं है।

अपने दांतों को चोट से बचाएं। कई बार कुछ चोटें आपको उस वक्त नहीं पता चलती लेकिन बाद में तकलीफ दे सकती हैं। इसलिए खेल खेलते समय माउथगार्ड या हेलमेट जरूर पहनें।

खाना चबाने के अलावा किसी और चीज के लिए अपने दांतों के इस्तेमाल से बचें। कुछ लोग नट्स को क्रैक करने के लिए या बोतल को खोलने के लिए भी दातों को प्रयोग में लाते हैं। ऐसा करना सही नहीं है क्योंकि ऐसा करने से आप अपने दातों को बहुत नुकसान पहुंचा सकते हैं।

नियमित चेकअप आपके दातों की सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है। नियमित चेकअप को कभी नजरअंदाज न करें। अगर आपको दांतों में कोई समस्या है जैसे दांत में दर्द या मसूड़ों से खून आना तो आपको अपने डेंटिस्ट के पास तुरंत जाना चाहिए। देर करने से कोई स्थयी नुकसान भी हो सकता है इसीलिए चिकित्सक की सलाह को नजरअंदाज न करें।

यह भी पढ़ेंः