पैंक्रियास में अल्सर तो नहीं पेट में दर्द का कारण! Symptoms of pancreatic ulcer

अग्नाशयी अल्सर (pancreatic ulcer) या सिस्ट सरल शब्दों में तरल पदार्थ के पूल हैं जो अग्न्याशय के हेड, बाॅडी या पीछे की तरफ बन सकते हैं। कुछ अग्नाशयी अल्सर गैर-भड़काऊ सिस्ट होते हैं, मतलब वे कोशिकाओं की एक विशेष परत द्वारा पंक्तिबद्ध होते हैं जो अल्सर में द्रव को स्रावित करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसके अलावा अल्सर भड़काऊ सिस्ट होते हैं। अग्नाशयी अल्सर का आकार कई मिलीमीटर से लेकर कई सेंटीमीटर तक हो सकता है। कई अग्नाशय के सिस्ट छोटे और सौम्य होते हैं और कोई लक्षण उत्पन्न नहीं करते हैं, लेकिन कुछ सिस्ट बड़े हो जाते हैं और लक्षण पैदा करते हैं।

अग्नाशयी अल्सर के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of pancreatic ulcer)
अग्नाशयी अल्सर के लक्षण उनके आकार और स्थान पर निर्भर करते हैं। छोटे (दो सेमी से कम) अल्सर आमतौर पर कोई लक्षण नहीं पैदा करते हैं। बड़े अग्नाशयी अल्सर पेट के दर्द और पीठ दर्द का कारण हो सकते है जो आसपास के ऊतकों और नसों पर दबाव बढ़ा सकते हैं।
अग्न्याशय के उपरी तरफ छोटे या बड़े अल्सर पीलिया का कारण हो सकते हैं, इसके साथ ये पित्त नली की रुकावट के कारण हो सकते हैं। (रुकावट पित्त का कारण बनता है और बिलीरुबिन को बाध्य करता है।
यदि सिस्ट संक्रमित हो जाते हैं, तो इसका परिणाम बुखार, ठंड लगना आदि के रूप में सामने आ सकता है।
कुछ मामलों में ये ग्रहणी को संकुचित कर सकते हैं, जिससे आंतों में भोजन की गति में रुकावट होती है, जिसके परिणामस्वरूप पेट में दर्द और उल्टी होती है।
गंभीर परिस्थितियों में ये घातक हो जाता है और आसपास के ऊतकों पर आक्रमण करना शुरू कर देता है, तो यह अग्नाशय के कैंसर के समान दर्द का कारण हो सकता है, दर्द जो आमतौर पर निरंतर होता है और पीठ और ऊपरी पेट में महसूस होता है।

अग्नाशय के कैंसर का कारण (Causes of pancreatic cancer)
अग्नाशय के कैंसर के विकास के लिए सबसे बड़ा जोखिम कारक धूम्रपान है। धूम्रपान न करने वालों की तुलना में धूम्रपान करने वालों में इस बीमारी के विकसित होने की संभावना दोगुनी होती है। अग्नाशय के कैंसर के कुछ अन्य कारणों को नियंत्रित किया जा सकता है जैसे मोटापे को नियंत्रित करके और हानिकारक रसायनों जैसे कीटनाशक आदि के अधिक संपर्क में आने से बच कर। अग्नाशय के कैंसर के जोखिम वाले कुछ कारकों को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है जिसमें उम्र बढ़ना, बीमारी का पारिवारिक इतिहास, मधुमेह और कुछ अन्य आनुवंशिक विकार से पीड़ित व्यक्ति।

अग्नाशय के कैंसर के इलाज के लिए सर्जरी आवश्यक हो सकती है! (Pancreatic cancer treatment)
सबसे आम संभावित क्यूरेटिव सर्जरी को अग्नाशयोडोडोडेनेक्टोमी, या व्हिपल प्रक्रिया कहा जाता है, इसमें अग्नाशय का हेड और कभी-कभी अग्न्याशय की बाॅडी को हटा दिया जाता है। कुछ मामलों में, छोटी आंतों, पित्त नली, पित्ताशय की थैली, लिम्फ नोड्स और पेट के कुछ हिस्सों को भी हटाया जा सकता है। इस तरह की प्रक्रिया अनुभवी सर्जन की देख-रेख में ही की जाती है।

यहां दी गई जानकारी का उद्देश्य जागरूकता लाना मात्र है, आपसे अनुरोध किया जाता है कि किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्या सामने आते ही सबसे पहले नजदीकी स्वास्थ्य विशेषज्ञ की सलाह लें।

यह भी पढ़ेंः