माइग्रेन व आम सिर दर्द के अंतर को समझें! headache vs migraine

माइग्रेन (migraine) का सिरदर्द मस्तिष्क के भीतर कई तरह के परिवर्तनों का परिणाम है। यह गंभीर सिर दर्द का कारण बनता है जो अधिकतर मामलों में प्रकाश, ध्वनि या गंध के प्रति संवेदनशीलता के कारण सामने आता है।

माइग्रेन के सामान्य लक्षणः
आंख का दर्द
प्रकाश या ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता
जी मिचलाना
उल्टी
गंभीर दर्द, अकसर केवल सिर के एक तरफ होता है, कई बार ये दर्द सहन भी नहीं होता है

माइग्रेन के कई रूप हो सकते हैं, ये पीड़ित को कई प्रकार से परेशान कर सकता हैः

क्लासिक माइग्रेन में सिरदर्द की शिकायत होती है, जो कई बार तेज दर्द में बदल जाती है।
एसेफेलिक माइग्रेन जो बिना सिर दर्द के होता है, लेकिन कई अन्य लक्षण उत्पंन करता है।
हेमटापर्जिक माइग्रेन इस तरह के माइग्रेन में कई प्रकार के परिणाम सामने आ सकत हैं जैसे कि शरीर के एक तरफ की कमजोरी, सनसनी महसूस करना या पिन और सुई की चुभन महसूस होना।
रेटिना माइग्रेन आंख में अस्थायी दृष्टि हानि का कारण बनता है, जो मिनटों से महीनों तक रह सकता है, यह अकसर अधिक गंभीर चिकित्सा समस्या का संकेत है, इसमें बिना देर किए चिकित्सक से संपूर्ण जांच करवाना जरूरी हो जाता है।
क्रोनिक माइग्रेन इसमें सिरदर्द जो लगातार तीन महीनों तक प्रति माह 15 से अधिक दिनों तक रहता है।
माइग्रेनोसस एक निरंतर माइग्रेन का दौरा है जो 72 घंटों से अधिक समय तक रहता है।

अन्य प्रकार के सिरदर्द भी तीव्र दर्द का कारण बन सकते हैं, लेकिन सभी सिरदर्द माइग्रेन नहीं होते हैं। पूर्ण रूप से माइग्रेन के कारणों का पता नहीं चल पाया है। अधिकतर मामलों लक्षणों के आधार पर इसका इलाज किया जाता है।

माइग्रेन की समस्या अचानक उभरने के कई कारण हो सकते हैंः
हार्मोनल परिवर्तन
तनाव
अत्यधिक शोर, आदि।

माइग्रेन व तनाव से पैदा हुए सिरदर्द के बीच अंतर क्या है?
अधिकतर मामलों में तनाव में सिरदर्द पूरे सिर में महसूस होता है। इसके साथ-साथ सिर में स्पंदन महसूस नहीं होता है, लेकिन दबाव या जकड़न जैसा महसूस होता है। कुछ मामलों में हल्का व कुछ में मध्यम सिर दर्द की शिकायत हो सकती है। साथ ही नियमित शारीरिक गतिविधि के साथ दर्द की हल्का व गायब हो जाता है। इस दौरान मतली या उल्टी जैसा महसूस नहीं होता है। वहीं माइग्रेन का सिरदर्द आमतौर पर कई घंटों तक या कई दिनों तक रह सकता है।

यह भी पढ़ेंः