बच्चे हों या बड़े फिटनेस क्यों है जरूरी? why fitness is important

अच्छा स्वास्थ्य आपके आत्मविश्वास में आश्चर्यजनक बदलाव लाता है, आज हम इस प्रश्न का जवाब खोजने की कोशिश करेंगे कि “why fitness is important” दरअसल किसी भी उम्र के लोग जो आमतौर पर निष्क्रिय होते हैं, वे नियमित रूप से फिटनेस एक्सरसाइज को अपना कर अपने स्वास्थ्य और कल्याण में सुधार कर सकते हैं। नियमित शारीरिक गतिविधि काफी हद तक कोरोनरी हृदय रोग, स्ट्रोक, पेट के कैंसर, मधुमेह और उच्च रक्तचाप के जोखिम को कम करती है। यह वजन को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। स्वस्थ हड्डियों, मांसपेशियों और जोड़ों में योगदान देता है। ये नियमित शारीरिक गतिविधि गठिया के दर्द को दूर करने में मदद करती है। यह चिंता और अवसाद के लक्षणों को कम करता है। अपर्याप्त शारीरिक गतिविधि वयस्कों तक सीमित नहीं है। एक अनुमान के मुताबिक 9 से 12 वर्ष के एक तिहाई से अधिक बच्चे नियमित रूप से शारीरिक गतिविधि नहीं करते हैं। शारीरिक निष्क्रियता आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है।

नियमित शारीरिक गतिविधि से स्वास्थ्य में सुधार हो सकता हैः

नियमित शारीरिक व्यायाम कोरोनरी हृदय रोग के विकास और सीएचडी से मरने के जोखिम को कम करता है
नियमित शारीरिक गतिविधियां स्ट्रोक के जोखिम को कम करती हैं
यह उन लोगों में दूसरा दिल का दौरा पड़ने का जोखिम कम करता है, जिन्हें पहले से ही एक दिल का दौरा पड़ चुका है
स्वस्थ्य जीवनशैली रक्त में खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करती है और उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन को बढ़ाती है
इससे उच्च रक्तचाप का जोखिम को कम होता है
उच्च रक्तचाप वाले लोगों में रक्तचाप को कम करने में मदद करता है
नियमित शारीरिक व्यायाम टाइप 2 मधुमेह केे जोखिम को कम करता है
यह पेट के कैंसर के विकास के जोखिम को कम करता है
लोगों को स्वस्थ शरीर व सही वजन को प्राप्त करने और बनाए रखने में मदद करता है
नियमित शारीरिक व्यायाम अवसाद और चिंता की भावनाओं को कम करता है
अच्छी जीवनशैली तनाव की भावनाओं को कम करती है
यह स्वस्थ हड्डियों, मांसपेशियों और जोड़ों को बनाने और बनाए रखने में मदद करता है

बच्चों और किशोरों के लिए, नियमित शारीरिक गतिविधि का स्वास्थ्य के निम्नलिखित पहलुओं पर लाभकारी प्रभाव पड़ता हैः

वजन
शरीरिक ताकत
ओवरऑल फिटनेस
रक्तचाप (उच्च रक्तचाप से ग्रस्त युवाओं के लिए)
चिंता और तनाव
आत्मविश्वास में बढ़ोतरी

यह महत्वपूर्ण है कि बच्चों और किशोरों को उन चीजों को करने के लिए शारीरिक रूप से सक्रिय होने के लिए प्रोत्साहित किया जाए जिनमें वे रुचि रखते हों। इससे उन्हें जल्दी एक सक्रिय जीवन शैली अपनाने में मदद मिलती है। आप स्वयं सक्रिय जीवनशैली का अपनाकर एक सकारात्मक उदाहरण सेट करें, और अपने परिवार की दिनचर्या के लिए शारीरिक गतिविधि का हिस्सा बनाएं जैसे कि परिवार के दैनिक वाॅक का समय निर्धारित करना या एक साथ सक्रिय गेम खेलना। शारीरिक गतिविधि को मजेदार बनाएं। मजेदार गतिविधियां कुछ भी हो सकती हैं जिसमें बच्चे को आनंद मिलता हो। जैसे कि वाॅक, दौड़ना, स्केटिंग, साइकिल चलाना, तैराकी आदि।

यह भी पढ़ेंः